मानसिक तनाव क्या है । Stress Meaning in hindi

Tension Meaning in hindi । Stress Meaning in hindi Definition

मानसिक तनाव एक सामान्य मानसिक विक़ार है। और दुनिया भर में बिमारियों के मुख्य कारणों में से एक है। विश्व स्तर पर अनुमानित 264 मिलियन लोग डिप्रेशन से प्रभावित हैं। आप को जान कर हैरानी होगी कि भारत में अनुमानित 57 मिलियन लोग (वैश्विक अनुमान का 18%) डिप्रेशन से प्रभावित हैं । पुरुषों की तुलना में अधिक महिलाएं प्रभावित हैं। सीधे शब्दों मे कहा जाये तो महिलाये डिप्रेशन का शिकार जल्दी होती है।

मानसिक तनाव का कारण (Stress buster meaning in hindi)

stress meaning in hindi


अभी के कुछ वर्षों में, वैश्विक विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने में मानसिक स्वास्थ्य की महत्वपूर्ण भूमिका की स्वीकार्यता बढ़ रही है, लोग अपने काम को करने के लिये जादा समय देते है वो अपने सारिरिक स्वस्थ पे जादा ध्यान नही दे रहे , वो अपना पुर दिन एक हि जगह पे गुजार देते है और रोज़ एक हि तरह के काम करते है और खुद को दूसरों से हमेशा तुलना करते रहते है ।

डिप्रेशन विकलांगता के प्रमुख कारणों में से एक है। डिप्रेशन आप को विकलांग कि तरह बना देता है ,यह आप को सारिरिक रुप से नही बल्कि मानसिक रुप से विकलांग बन देता है । 15-29 साल के बच्चों में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण आत्महत्या है। गंभीर मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों वाले लोग समय से पहले मर जाते हैं -मानसिक तनाव के करण बहुत से बिमारिया हो सकती है, (stress meaning in hindi )

कुछ देशों में प्रगति के बावजूद,जैसा कि भारत जैसे प्रगतिसील देसो मे भी मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति वाले लोग अक्सर गंभीर मानवाधिकारों के उल्लंघन, भेदभाव और कलंक का अनुभव करते हैं। मानसिक तनाव का एक कारण यह भी है कि लोग खुल कर अपने परेशानियों को अपने घर वालो को बता नही पाते

stress in hindi meaning- तनाव या चिंता

Depression Quotes in Hindi

दूसरों से ज्यादा उम्मीद ही, दुखो का श्रोत है

By: Suraj

वर्तमान जीवन जीना, आप को तनाव से बचा सकता है

By: Suraj

खुद पर विश्वास करना, ईश्वर पर विश्वास करने जैसा है

By: suraj

मानसिक तनाव, ज्यादा सोच का परिणाम होता है

Depression Quotes

क्रिया व ध्यान, मानसिक तनाव के उपचार का प्राकृतिक श्रोत है

Depression Quotes

दुसरो से ज्यादा उम्मिद, मनुष्य को डूबा देता है

Depression Quotes

तनाव के लक्षण : Symptoms of Stress in hindi

उदासीनता उदासी, रुचि या आनंद की हानि, किसी भी काम मे मन न लगना, खुद के बारे मे नकारात्मक सोच आना , परेशान बिना किसी बता के घबराना । नींद ना आना , भूख ना लगना,। थकान महसूस होना और खराब एकाग्रता की विशेषता है। डिप्रेसन से ग्रस्त लोगों को बिना किसी स्पष्ट शारीरिक कारण के कई शारीरिक शिकायतें भी हो सकती हैं।

किसी भी काम मे मन न लगना
खुद के बारे मे नकारात्मक सोच
बिना किसी बता के घबराना
बिना वजह परेशान रहना
नीद न आना
भूख न लगना
थकान महसूस होना
पेट खराब रहना
सिर दर्द
किसी न किसी बीमारी की चिंता
तनाव के लक्षण

डिप्रेसन के कारण बहुत सी बिमारिया भी बिना किसी वजह से हि हो जाती है जिसमे हमारा दिमाग यह मान लेता है कि हमे यह बिमारि है ।
डिप्रेसन लंबे समय तक चलने वाला या कुछ समय मगर घातक हो सकता है, जो लोगों के काम या स्कूल में काम करने और दैनिक जीवन का सामना करने की क्षमता को काफी हद तक कम कर देता है। डिप्रेसन के करन हमे छोटी मोटी परेशानियां भी बडी लगने लगती है जिसका हम सामना करने से भी घबराने लगते है । डिप्रेसन अपने सबसे गंभीर रूप में, आत्महत्या का कारण बन सकता है।

Tension Meaning in Hindi



डिप्रेसन के कुछ प्रभावी उपचार भी हैं। हल्के से मध्यम डिप्रेसन को व्यवहार थेरेपी या मनोचिकित्सा जैसे टॉकिंग थेरेपी(बातचित के जरिये ) के साथ प्रभावी ढंग से इलाज किया जा सकता है। मध्यम से गंभीर डिप्रेसन के लिए एंटीडिप्रेसेंट उपचार का एक प्रभावी रूप हो सकता है लेकिन हल्के डिप्रेसन के मामलों के लिए उपचार की पहली पंक्ति नहीं है।। उनका उपयोग बच्चों में डिप्रेसन के इलाज के लिए नहीं किया जाना चाहिए। एंटीडिप्रेसेंट उपचार का एक प्रभावी ऊचार तो है पर इसे हल्के डिप्रेसन या बच्चों और किशोरों में उपचार के लिये नहीं है, अगर वो करते भि है तो उन्हे सावधानी से करना चाहिये से उन्हें सावधानी के साथ इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

डिप्रेसन से कैसे बचे (Stress management in hindi)

डिप्रेसन से बचने के लिये सामाजिक पहलू शामिल होने चाहिए, जिसमें तनाव के कारकों की पहचान करना शामिल है,
पहले यह जानने कि कोसिस किया जाय कि तनाव किस करण से हो रह है। किस चिज, जगह या वस्तु के करण तनव हो रहा है , जैसे कि वित्तीय समस्याएं, या वो समस्याएँ जिसे हम किसे से बता नही पाते ,काम पर कठिनाइयाँ या शारीरिक या मानसिक शोषण, और समर्थन के स्रोत, जैसे कि हम किसी गलत काम मे न चहते हुये भी समरथन कर देते है,
सामाजिक नेटवर्क और सामाजिक गतिविधियों का रखरखाव तनाव को कम करने मे मह्त्वपुर्न है
तनव से बचने के लिये हमे अपनो के साथ वक़्त बितान चहिये और अपनी परेसनियू को खुल के अपनो के साथ बतना चाहिये

Tension से कैसे बचे


मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक तनाव के निर्धारकों में न केवल व्यक्तिगत गुण शामिल हैं। जैसे कि किसी के विचारों, भावनाओं, व्यवहारों और दूसरों के साथ बातचीत को प्रबंधित करने की क्षमता, बल्कि सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक, राजनीतिक और पर्यावरणीय कारक जैसे राष्ट्रीय नीतियां, सामाजिक सुरक्षा, मानक रहने की स्थिति, काम करने की स्थिति और सामुदायिक समर्थन भी मानसिक तनव से जोखिम मे है ।तनाव, आनुवंशिकी, पोषण, प्रसवपूर्व संक्रमण और पर्यावरणीय खतरों के संपर्क में भी मानसिक तनव के कारक हैं।

स्वास्थ्य और समर्थन


स्वास्थ्य प्रणालियों ने अभी तक मानसिक के बोझ के प्रति पर्याप्त रूप से प्रतिक्रिया नहीं दी है। परिणामस्वरूप, उपचार की आवश्यकता और इसके प्रावधान के बीच की खाई पूरी दुनिया में चौड़ी है। निम्न और मध्यम आय वाले देशों में, मानसिक तनाव वाले 76% से 84% लोगों को उनके तनाव का कोई इलाज नहीं मिलता है।
स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं से समर्थन के अलावा, मानसिक बीमारी वाले लोगों को सामाजिक समर्थन और देखभाल की आवश्यकता होती है। उन्हें अक्सर ऐसे शैक्षिक कार्यक्रमों तक पहुँचने में मदद की ज़रूरत होती है जो उनकी ज़रूरतों के अनुकूल हों, और रोजगार और आवास खोजने में जो उन्हें अपने स्थानीय समुदायों में रहने और सक्रिय रहने में सक्षम बनाते हैं

डब्ल्यूएचओ की मानसिक स्वास्थ्य कार्य योजना


2013-2020, 2013 में विश्व स्वास्थ्य सभा द्वारा अनुमोदित, सभी लोगों के लिए स्वास्थ्य प्राप्त करने में मानसिक स्वास्थ्य की आवश्यक भूमिका को पहचानती है। योजना में 4 प्रमुख उद्देश्य शामिल हैं:

मानसिक स्वास्थ्य के लिए अधिक प्रभावी नेतृत्व और शासन;
समुदाय आधारित सेटिंग्स में व्यापक, एकीकृत मानसिक स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल सेवाओं का प्रावधान;
प्रोत्साहन और रोकथाम के लिए रणनीतियों का कार्यान्वयन;
तथा
सूचना प्रणाली, साक्ष्य और अनुसंधान को मजबूत किया।
2008 में शुरू किया गया WHO का मानसिक स्वास्थ्य गैप एक्शन प्रोग्राम (mhGAP), देशों में सेवाओं का विस्तार करने के लिए विशेष रूप से संसाधन-गरीब सेटिंग्स में साक्ष्य-आधारित तकनीकी मार्गदर्शन, उपकरण और प्रशिक्षण पैकेज का उपयोग करता है। यह एक एकीकृत दृष्टिकोण में गैर-विशिष्ट स्वास्थ्य देखभाल प्रदाताओं की ओर क्षमता निर्माण को निर्देशित करने वाली स्थितियों के प्राथमिकता वाले सेट पर केंद्रित है जो देखभाल के सभी स्तरों पर मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। अधिक जानकारी के लिये who के ओफिसियल साइट

मानसिक तनाव से बचने के लिये ध्यान क्रिया सबसे कारगर है।

2 thoughts on “मानसिक तनाव क्या है । Stress Meaning in hindi”

  1. Pingback: कोरोना वायरस का मानव जीवन पर प्रभाव । Corona virus ka manav jivan par prabhav - किसानों पर प्रभाव [2021]

  2. Pingback: स्वामी विवेकानन्द जीवन परिचय । Swami Vivekananda Biography - अनंत जीवन.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *