हस्त रेखा ज्ञान । Hast Rekha Gyan in Hindi

हस्त रेखा कैसे देखे- भाग्य रेखा, जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा -Hast Rekha Gyan in Hindi

हस्त रेखा विशेषज्ञ हाथों में बनी रेखाओं का गहनता से अध्ययन करते है व्यक्ति के हाथों में बनी लकीरो के माध्यम से किसी भी व्यक्ति का वर्तमान और भविष्य  जाना जा सकता है।

आप को बता दू की हमारे हाथ व अंगुलियों में कई प्रकार की लकीरे होती है जिससे हस्त रेखा विशेषज्ञ आप के जीवन के बारे में जान सकता है, चलिये इस लेख में हस्त रेखा विशेषज्ञ बनते है।

Hast Rekha Gyan in Hindi

हमारे हाथों में कई प्रकार की रखाये पाई जाती है जैसे- भाग्य रेखा, स्वास्थ्य रेखा, मस्तिष्क रेखा, धन सम्बंधित रेखा, इत्यादि इन सभी रेखाओं के माध्यम से भविष्यवाणी की जा सकती है । हस्तरेखा विशेषज्ञ से आप अपने जीवन से सम्बंधित प्रश्नों के उत्तर आसानी से प्राप्त कर सकते है। जैसे- आयु, विवाह, संतान, अनहोनी, इत्यादि

हस्त रेखा के माध्यम से भविष्य में घटित होने वाली घटनाओं का आसानी से अनुमान लगाया जा सकता है, तथा आप के अंगुलियों व नाखून की बनावट से आप के प्रगति का क्षेत्र, कार्य का फल, आपका स्वभाव जैसे कई अन्य भविष्यवाणि को आसानी से बताया जा सकते है

मन को शांत कैसे करे।

हस्त रेखा

सम्पूर्ण जीवन जीने के लिये कडी मेहनत के साथ- साथ किस्मत का होना भी जरूरी है, किस्मत को जानने के कई तरीके है, उसमे से हस्त रेखा एक है जहाँ पर लोग हस्त रेखा के विशेषज्ञ को अपनी हथेली दिखा कर अपने भाग्य को जान सकते है,

हस्त रेखा के माध्यम से जीवन में चल रहे प्रेम, परिवार, करियर, पढाई, सामाजिक, धन सम्बंधित या कई अन्य प्रकार के तथ्य को आसानी से जाना जा सकता है। हस्त रेखा (Hast Rekha) की खोज ज्योतिषाचार्य (कीरो ) द्वारा किया गया था, Hast Rekha in Hindi सुबह कितने बजे उठना चाहिये

जीवन रेखा किसे कहते है

Hast Rekha Gyan in Hindi

जीवन रेखा हमे जीवन से परिचित कराती है जैसे- आप के जीवन कितना सुखमय होगा या कितना कठिनाई पूर्ण होगा, ये हमारे स्वास्थ्य के बारे में बाताती है, जीवन रेखा के माध्यम से जीवन में हुये घटनाओ और होने वाले वाले घटनाओ को जाना जा सकता है।

जीवन रेखा की शुरुआत तर्जनी और अगुठे के बीच से शुरु होता है जैसा की चित्र में दिखाया गया है। हस्त रेखा विशेषज्ञो का मानना है की जीवन रेखा मृत्यू के बारे में भी बताती है। मानसिक तनाव क्या है

प्रश्न- जीवन रेखा किसे कहते है?
उत्तर- तर्जनी और अगुठे के बीच के रेखा को जीवन रेखा कहते है

जीवन रेखा 1. लम्बी रेखा – यदि जीवन रेखा लम्बी है तो मनुष्य की आयु अधिक व स्वस्थ्य रहेगा।
2. छोटी रेखा – यदि रेखा की लम्बाई छोटी है तो आप को स्वस्थ्य सम्बंधित परेसानियो से को झेलना पड सकता है।
3. गहरा रेखा – यदि जीवन रेखा गहरा है तो आप का जीवन आसान होगा
4. हल्का रेखा – यदि जीवन रेखा हल्का है तो आप का जीवन कठिनाईयो से गुजरेगा।
5. दो से अधिक रेखा – यदि आप के जीवन रेखा में कई रेखाये है तो आप को चिंता करने की जरुरत नहीं। इसका अर्थ है की आप के जीवन में सकारात्मक उर्जा का प्रवाह है,
जीवन रेखा (jivan rekha)

हृदय रेखा

Hast Rekha Gyan in Hindi

प्रश्न- हृदय रेखा कहाँ होता है?
उत्तर- हृदय रेखा तर्जनी से सबसे छोटी उंगली के बीच होता है

हृदय रेखा- हमारे जीवन में हृदय सम्बंधित विचारो से रुबरु कराती है हृदय रेखा के माध्यम से ही हमे ये पता लगता है की आप की इच्छा पूर्ण होगी या नहीं। 

हृदय रेखा से मनुष्य कितना  कठोर, साहस, भावुक, कोमल हृदय, कामवासना, मित्रता, इन सब को हृदय रेखा से जाना जा सकता है। हृदय रेखा के माध्यम से मन के विचार और चरित्र का अनुमान लगाया जा सकता है। अगर आप का हृदय रेखा लम्बी है तो आप खुले हृदय वाले मनुष्य है। मनोबल कैसे बढाये

हृदय रेखा1. लम्बी रेखा- यदि हृदय रेखा लम्बी है तो आप खुले हृदय वाले मनुष्य के गिनती मे आते है
2. छोटी रेखा- यदि हृदय रेखा छोटी है तो मनुष्य खुद पर ज्यादा ध्यान देने वाला है, दुसरो की ज्यादा फिक्र नही करता।
3. टूटी रेखा – यदि हृदय रेखा बीच से टूटी है तो व्यक्ति के प्रेम सम्बंधित रिश्तो का बिखरने का प्रतीक है।
4. हल्का व पतला रेखा – यदि हृदय रेखा पतली व हल्की है तो व्यक्ति का स्वभाव रुखा होगा।
हृदय रेखा(Heart Line)

भाग्य रेखा

बीच वाली अंगुली से कलाई की ओर की रेखा को भाग्य रेखा कहाँ जाता है। यह रेखा यह बताती है मनुष्य कीतना भाग्यशाली होगा, उसका सम्पूर्ण जीवन में उसका भाग्य कितना साथ देगा या नहीं।

भाग्य रेखा के माध्यम से ये भी जाना जा सकता है की मनुष्य अपने काम मे सफल होगा या असफल ।

भाग्य रेखा 1. गहरा व लम्बा रेखा- यदि भाग्य रेखा गहरा व लम्बा है तो व्यक्ति का भाग्य शुभ माना जाता है,
2. टूटी रेखा- यदि भाग्य रेखा टूटी हुई है तो व्यक्ति का जीवन कठिनाइयो भरा हो सकता है।
3. लहरदार रेखा- यदि भाग्य रेखा लहरदार है तो आप के जीवन मे कई उतार- चढाव देखने को मिल सकता है
4. दो से अधिक रेखा- यदि भाग्य रेखा 2 है तो उस व्यक्ति के तरक्की को कोई नही रोक सकता।
भाग्य रेखा

मस्तिष्क रेखा

Hast Rekha Gyan in Hindi

मस्तिष्क रेखा हमारे दिमाक के बारे में बताती है, मस्तिष्क रेखा के माध्यम से हस्त रेखा विशेषज्ञ मनुष्य के मस्तिष्क के बारे में जान सकता है जैसे, मनुष्य कितना बुध्दिमान है या उसके अंदर कीतनी चतुराई है

मस्तिष्क रेखा के माध्यम से आप के जीवन में कितना चिंताये है आप को कितनी मानसिक चिंताये है इसके माध्यम से आप के शिक्षा व गुण और अवगुण के बारे में भी पता लगाया जा सकता है। ( Hast Rekha in Hindi )

मस्तिष्क रेखा 1. लम्बी रेखा- यदि मस्तिष्क रेखा लम्बी है तो आप के याद करने की शक्ति और लोगो के अपेक्षा अधिक होगी, और किसी काम को करने से पहले आप विचार करते है।
2. अधिक लम्बी- यदि मस्तिष्क रेखा साधारण रुप से अधिक लम्बी है तो, ऐसे व्यक्ति अधिक साहसी होते है
3. दो या दो से अधिक– यदि मस्तिष्क रेखा दो या दो से अधिक है तो आप का मस्तिष्क तिव्र बुध्दि , स्मरण शक्ति वाला है।
4. लम्बी व सीधी रेखा- यदि मस्तिष्क रेखा लम्बी और सीधी है तो ऐसे लोग उलझे व्यक्तित्व वाले होते है।
मस्तिष्क रेखा (head line)

सूर्य रेखा

सूर्य रेखा अनामिका उंगली के पास होती है ये रेखा सभी के हाथो में नहीं पाई जाती, सूर्य रेखा हमे ये बताती है की कोई मनुष्य अपने जीवन में कितना नाम, इज्जत, कमायेगा  समाज में उसका कितना महत्व होगा, व्यक्ति कितना लोकप्रिय होगा ये बात हमे सूर्य रेखा के माध्यम से ही पता चलता है।

स्वास्थ्य रेखा

स्वास्थ्य रेखा के माध्यम से मनुष्य के स्वास्थ्य का पता चलता है, हस्त रेखा विशेषज्ञ आप के स्वास्थ्य रेखा के लकीरो को देख कर आप के स्वास्थ्य का अनुमान लगा सकते है, ध्यान क्रिया कैसे करे

आप के जीवन मे कितना स्वास्थ्य है या आप को किन प्रकार के स्वास्थ्य सम्बंधित परेसानियो को झेलना पड सकता है ।

विवाह रेखा

विवाह रेखा, हृदय रेखा के उपर होता है, इस रेखा के माध्यम से मनुष्य के विवाह सम्बंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। विवाह रेखा के ये पता लगता है की किसी मनुष्य का वैवाहिक जीवन कितना सुखी होगा, उसका विवाह होगा या नहीं ।

विवाह रेखा से ये पता लगाया जा सकता है की मनुष्य का विवाह कब होगा, किस आयु में होगा, और विवाह सुखमय होगा या कठिनाई पूर्ण होगा, इत्यादि ( Hast Rekha Gyan in Hindi

विवाह रेखा 1. गहरी व लम्बी रेखा- यदि विवाह रेखा गहरी व लम्बी है तो व्यक्ति अपने विवाह को अहमियत देता है, वह अपने विवाह से सम्पन्न व खुश है।
2. छोटी रेखा- यदि विवाह रेखा हल्का है तो ऐसा व्यक्ति अपने विवाह या प्रेम के रिश्तो को ज्यादा महत्व नही देता ।
3. कटी रेखा- यदि विवाह रेखा कटी या टूटी है तो ऐसे विवाहित जोडो को कई कठिनाइयो का सामना करना पड सकता है।
4. एक से अधिक रेखा- यदि विवाह रेखा मे एक से अधिक रेखा है तो ये अशुभ माना जाता है
विवाह रेखा

संतान रेखा

विवाह रेखा के उपर संतान रेखा होती है, इस रेखा के माध्यम से आप को कितने संतान होगे, लडके होंगे या लड़की को जाना जा सकता है, इस रेखा के माध्यम से आप अपने संतान के स्वस्थ्य के बारे में भी जान सकते है ( Hast Rekha in Hindi )

follow on Pinterest

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *