ध्यान क्रिया कैसे करे । How to meditation Hindi

ध्यान केंद्रित करने के उपाय – How to meditation Hindi मे पढे

Meditation करने से पहले हमें यह सुनिश्चित कर लेना चहिये कि इसे कब, कहाँ और कैसे करना चहिये, ध्यान करने से मनुष्य का मानसिक व शारीरिक दोनों प्रकार से विकाश होता है,

ध्यान व योग का उल्लेख हिंदू धर्म के धार्मिक ग्रंथों में विस्तार से वर्णन किया गया है , अगर आप ध्यान को विस्तार से समझेंगे तो पायेंगे की ध्यान क्रिया से वह सब कुछ सम्भव है जो आप करना चाहते है, ध्यान ही वो माध्यम है जिससे आप अद्भुत व अद्वितीय शक्ति का एहसास कर सकते है। ध्यान क्रिया मानवीय ऊर्जा को एकत्रित करने का स्रोत है।   

How to meditation Hindi
meditation photo

Meditation योग का एक भाग है योग के फायदे से तो आप परिचित होंगे। मेडिटेशन और योग दोनों जीवन के विकाश में प्रमुख भूमिका निभाते है। ऐसे में हमें ये जानना जरूरी है की मेडिटेशन करने का सबसे अच्छा तरीका क्या होता है, इसे कब करे, और इसके फायदे क्या- क्या है।

जीवन एक चुनौती है, इस विचार से तो सब परिचित है, अगर जीवन को बेहतर तरीके से जीना है चुनौतियो का सामना डट कर करना है तो ध्यान व योग करना अतिआवश्यक है इससे आप जीवन में घट रही अकल्पनीय घटना से आप आसानी से उबर सकते है।     

Benefits Of Meditation in Hindi

अगर कोई मनुष्य नियमित रुप से ध्यान क्रिया को अपने दिनचर्या में लाता है तो उसको अद्भुत तरीकों से बदलाव देखने को मिलेगा, मान्यत: अगर कोई मनुष्य अपने प्रतिदिन के दिनचर्या में योग, ध्यान क्रिया और ईश्वर की पूजा जैसे क्रिया को प्रतिदिन करता है तो, वह व्यक्ति औरो के तुलना में ज्यादा बुद्धिमान,सहज, धैर्यवान, सम्मान जनक होता है।  

प्रतिदिन ध्यान क्रिया करने के फायदे-   

1. ध्यान क्रिया तनाव कम करता है।

2. ध्यान क्रिया से मानसिक मजबूती मिलती है

3. ध्यान क्रिया करने से आप तनाव से बच सकते है   

4. ध्यान क्रिया से आप अपने आंतरिक ऊर्जा को पहचान सकते है

5. ध्यान क्रिया से वो सब सम्भव है, जो आप चाहते है  

 6. ध्यान क्रिया मनुष्य को स्वस्थ रहने मे सहायक है

7. ध्यान आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है।

8. ध्यान आपको डिप्रेशन से बचाता है।

9. ध्यान क्रिया आपको लंबी उम्र दे सकता है।

Meditation कहाँ करे

mediation मानसिक विकाश में सहायक है, ऐसे में आप को ये जानना जरूरी है की मेडिटेशन कैसे करें, कहाँ करें,ध्यान केंद्रित करने के लिये सबसे ज्यादा जरूरी है खुद का शांत होना, खुद के शांत रखने के कई फायदे है इसके बारे में हम आगे चर्चा करेंगे।

मेडिटेशन करने के लिये, शांत जगह का होना अनिवार्य है ऐसे में अगर आप प्रकृति के गोद में रहकर ध्यान करें तो ज्यादा फायदेमंद होगा- प्रकृति का गोद का अर्थ- प्रकृति द्वारा बनाये गये, वस्तु को संसाधन बनाकर ध्यान करना, प्रकृति की वस्तु ये जैसे- पेड़ पौधे, खुला आसमान, झील, नदियों के किनारे, सूरज की किरणें आप को आसानी से छू सके , ऐसे स्थानों पर बैठ कर ध्यान करना सबसे उच्चतम माना जाता है

How to do meditation in Hindi

Meditation करने के लिये आप को प्रातः: काल उठना अनिवार्य है, निचे दिये गये स्टेप्स के सहारे आप ध्यान क्रिया करने की कोशिश करें। अगर आप Dhyan kriya को नियमित रुप से करते है तो आप को अद्भुत बदलाव देखने को मिलेगा ।

1.Step – शांत स्थान पर बैठ जाये,

सबसे पहले आप शांत स्थान पर शांत मुद्रा में बैठ जाये, ध्यान रहे आप प्रकृति के गोद में हो जैसे- खुला आसमान, पेड़- पौधे, नदिया, इत्यादि

2.Step – शांत मुद्रा में बैठने वाले कुछ योग क्रिया करें

 शांत मुद्रा की कुछ योग क्रिया करें ताकि आप को ध्यान क्रिया करने में आलस ना आये, शांत मुद्रा की योग क्रिया जैसे- अनुलोम विलोम

3.Step – मन को शांत व स्थिर करें

मन को शांत करने के लिये, ताकि आप को ध्यान करते वक्त नकारात्मक या अन्य कोई विचार ना आये- मन को शांत कैसे करें पढे।

4. Step – मस्तिष्क व मन को खाली छोडे (कुछ ना सोचे)

अब आप अपने दिमाग़ व मन को कोई कार्य ना दे, उन्हें खाली रहने दे- किसी भी प्रकार का विचार ना उत्पन्न करें।

5. Step – आँख बंद करें और अपने सांसो पर ध्यान लगाये।

अब आप ध्यान क्रिया के लिये तैयार है, अपनी आँख को बंद करें और धीमे- धीमे सांस ले और अपने उन्हीं सांसो पर ध्यान लगाये, उसके अलावा आप को कोई विचार उत्पन्न नहीं करना है।  इस प्रक्रिया को आप अपने क्षमता अनुसार कर सकते है।

कृपया, मन या मस्तिष्क के दबाव से ना करें, इसे करने के लिये आप के पास मन और मस्तिष्क दोनों की सहमति होना अनिवार्य है

Meditation Meaning in Hindi

Meditation को हिंदी मे ध्यान कहते है।

ध्यान क्रिया का अर्थ- मानव के अंदर उपस्थिति असीमित ऊर्जा को एकत्रित करके, उसका सदुपयोग करना। अगर आप ध्यान क्रिया के शक्तियो को पहचानने मे समर्थ है तो आप जीवन के हर कठिनाइयो का सामना आसानी से कर पायेंगे

ध्यान या आसन कैसे काम करता है


आसन में, शरीर को विभिन्न स्थितियों में इस तरह रखा जाता है कि शरीर के अंग और ग्रंथि की गतिविधिया अधिक कुशल हो जाती है और अंततः शरीर के स्वास्थ्य और दिमाग में सुधार होता है। वास्तव में आसन वह साधन है जिससे शारीरिक और मानसिक विकास प्राप्त होता है बीमारियों को रोकना, और उम्र बढ़ने के प्रभाव को योग व्यायाम के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है

आसन या ध्यान के फायदे

योगा व ध्यान के तो केवल – फायदे ही फायदे है, लेकिन कुछ विशेष फायदो पे आज हम बात करने वाले है ,जैसे-

  • मानसिक शक्ति मजबूत होना
  • आत्मविश्वास बढना
  • धैर्यवान बनना
  • 1,हड्डियां और जोड़ मजबूत होते हैं
  • 2 मांसपेशियां होती हैं मजबूत
  • रक्त संचार सामान्य हो जाता है
  • श्वसन अंग हो जाते हैं कुशल
  • पाचन तंत्र की कार्यक्षमता बढ़ती है
    6तंत्रिका तंत्र की मजबूती
  • रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है
  • etc कुछ प्रमुख आसन और उनके फयदे

1 thought on “ध्यान क्रिया कैसे करे । How to meditation Hindi”

  1. Pingback: स्वामी विवेकानन्द जीवन परिचय । Swami Vivekananda Biography - अनंत जीवन.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *