सुलेख क्या है । Hindi Sulekh

Hindi Sulekh : सुलेख का अर्थ है लिखने से अर्थात यह एक लिखने का अभ्यास है, साफ व सुंदर लिखना सुलेख कहलाता है, आसान शब्दों में समझे तो किसी शिक्षक द्वारा बोले गये शब्दों को विद्यार्थी द्वारा लिखे गये लेख को सुलेख कहते है, सुलेख लिखने से विद्यार्थियों की हस्त लेखन (Hand Writing) सुधरती है,

hindi sulekh image
hindi sulekh image

सुलेख को अग्रेजी मे – calligraphy कहते है।

सुलेख क्या है – Hindi Sulekh  

सुलेख का अभ्यास ज्यादातर छोटी कक्षा 1 से 8 तक के विद्यार्थियों को कराई जाती है। यह हस्त लेखन और मात्रा सुधारने की प्रक्रिया होती है, इसके नियमित अभ्यास से बच्चों का हिंदी हैंड राइटिंग और मात्रा सुधार जाती है। इसलिये हम सुलेख शब्द को अभ्यास लेखन भी कह सकते है।  

सुलेख लेखन एक अभ्यास है, इस अभ्यास से हम हस्त लेखन और व्याकरण में सुधार करते है,
व्याकरण- व्याकरण के माध्यम से हम हिंदी को शुद्ध- शुद्ध बोलना व लिखना सीखते है, हिंदी भाषा को जानने के लिये, व्याकरण का जानना आवश्यक है |

नारी शिक्षा पर निबंध

सुलेख कैसे लिखे – Hindi Sulekh Writing

किसी विद्यार्थी से सुलेख लिखवाने का उद्देश्य होता है की बच्चों की हस्त लेख व मात्रा सुधारी जा सके, इसलिये सुलेख लिखते वक्त शब्दों और मात्रा पे विशेष ध्यान देना चाहिये। साथ ही सुलेख लिखते वक्त पूर्ण विराम ( । ) कामा ( , ) प्रश्नवाचक ( ? ), इत्यादि चिन्हों का विशेष ध्यान देना चाहिये। hindi Sulekh या hindi calligraphy

hindi sulekh writing
sulekh writing in hindi

पहली बार सुलेख लिखते समय धीरे-धीरे लिखे और हस्त लेखन और व्याकरण के शुद्धि का पूर्ण ख्याल रखे, धीरे- धीरे प्रकृति रुप से आप तेज व शुद्ध लिखना सीख जायेंगे। कुछ नियमों का ख्याल रखे.. जैसे-
Reasoning Question in Hindi

  1. अक्षरों को ज्यादा छोटा या बड़ा ना लिखे, सामान्य आकार में रखे।
  2. अक्षरों और शब्दों के दूरी का ख्याल रखे।
  3. वाक्य पूरा होने पर, वाक्य अनुसार चिन्ह अवश्य लगाये।
  4. सुलेख लिखते वक्त, व्याकरण का ख्याल रखे।
    Read- सर्वनाम के भेद व उदाहरण

 सुलेख लिखने के फायदे – Hindi Sulekh Writing Benefits

  1. सुलेख लिखने से हस्त लेखन में सुधार होता है
  2. सुलेख लेखन से मात्राओं में सुधार होता है।
  3. सुलेख लिखने से लेख लिखने क्रिया तेज होती है।
  4. सुलेख लिखने से कडे- शब्द लिखने की सीख मिलती है

लेखन की विधि

1. सुलेख Ssulekh) – साफ व सुंदर वाक्य लिखना सुलेख कहलाता है,

2. अनुलेख (Anulekh) – वर्णो को देख कर लिखना अनुलेख कहलाता है, इस लेख को शिक्षक द्वारा मोटे व बडे अक्षरो में लिख दिया जाता है और इस लेख को छात्र द्वारा देख कर लिखा जाता है जैसे- क…… ख…… ग…. (hindi writing calligraphy)

3. प्रतिलेख (Pratilekh) – प्रति लेख का अर्थ नकल करने से या दूसरी प्रतिलिपि से, अर्थात किसी किताब की नकल करके लिखना प्रतिलेख कहलाता है । चना खाने के फायदे

4. श्रुतलेख (Shurtilekh) – श्रुत लेख का अर्थ है सुनकर लिखना, जब कोइ लेख में किसी से सुन कर लिखते है तो उसे श्रुत लेख कहते है  Hindi Sulekh writing

10 Line Sulekh in Hindi – बच्चो के लिये सुलेख

  • हमे प्रतिदिन अपने माता-पिता का पैर छूना चाहिये
  • हमे रोजाना ब्रश करके विद्यालय आना चाहिये
  • अपने बडो का सम्मान व छोटो को प्यार देना चाहिये
  • सुबह प्रात: काल उठना चाहिये
  • प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिये
  • विद्यालय साफ-सुथरे कपडे पहन कर आना चाहिये
  • हमे झूठ नही बोलना चाहिये
  • हमे रोजाना विद्यालय का होमवर्क करके आना चाहिये
  • हमे गाली व झूठ जैसे अशब्द भाषा का प्रयोग नही करना चाहिये
  • हमे भोजन को आराम से और खूब चबा कर निगलना चाहिये

School Sulekh in Hindi – विद्यालय के लिये सुलेख

  1. रोजाना माता-पिता का पैर छूना चाहिये
  2. विद्यालय आते वक्त साईकल तेज नही चलानी चाहिये, मुडने से पहले दाय-बाये का ख्याल रखना चाहिये
  3. विद्यालय मे साफ कपडे पहन कर आना चाहिये
  4. विद्यालय द्वारा दिये गये कार्य को पूरा करके के आना चाहिये
  5. विद्यालय मे सभी आप के भाई-बहन के समान होते है।
  6. विद्यालय न आने पर विद्यालय मे प्रार्थनापत्र अवश्य भेजे
  7. पुस्तको को सम्हाल कर रखे।
  8. विद्यालय के नियमो का पालन करे।
  9. प्रतिदिन स्नान व ब्रश करके विद्यालय आना चाहिये
  10. विद्यालय या अन्य विद्यार्थियो के वस्तुयो की चोरी ना करे।

अनुशासन किसे कहते है ।

FAQ – लोगो ने पूछा

प्रश्न – सुलेख क्या है ?
उत्तर- साफ -साफ व शुध्द लिखना सुलेख कहलाता है।

प्रश्न- सुलेख लिखने से क्या होता है ?
उत्तर- सुलेख से हैंड राइटिंग और मात्रा मे सुधार होती है।

प्रश्न- श्रुतिलेख किसे कहते है?
उत्तर- सून कर लिखा गया लेख को श्रुतिलेख कहते है।

प्रश्न- प्रतिलेख किसे कहते है ?
उत्तर- किताबो व अखबारो से नकल करके लिखना प्रतिलेख कहलाता है। सामान्य भाषा मे समझे तो, किसी भी लेख के छायाप्रति (फोटो स्टेट) को प्रतिलेख कह सकते है।

सुलेख पर लिखा गया लेख आप को कैसा लगा, कमेंट मे हमे जरुर बताये, साथ ही अगर आप को सुलेख के विषय पर अधिक जानकारी है, हमारे साथ जरुर साझा करे, ताकि हम लोगो तक और अधिक जानकारी पहुचाने मे सक्षम हो , हमारे साथ जुडे- Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *