गौरैया के बारे मे (निबंध)- About Sparrow in hindi Essay

गौरैया की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी मे -About Sparrow in hindi

गौरैया एक चिडिया का नाम है, जो कि देखने मे छोटी व आकर्षक होती है, यह चिडिया अन्य देशो के अपेक्षा भारत मे अधिक पाई जाती है, इस चिडिया को गाव के लोग अलग-अलग नामो से जानते है, जैसे- गौरैया, छोटी चिडिया, फुदगुइया, इत्यादि। इस लेख मे हम गौरैया चिडिया (Sparrow Birds) के विषय मे विस्तार जानेगे।

गौरैया के रहस्य

गौरैया पर निबंध – Essay on Sparrow in Hindi

गौरैया एक चिड़िया का नाम है जो की आकार में छोटी होती है, ये चिड़िया ज्यादातर यूरोप व ऐशिया के देशों में पाई जाती है। जैसे- भारत, अमेरिका, न्युजिलैंड, इत्यादि। (About Sparrow in hindi)

यह पक्षी मुख्यतः भारत के गावो में अधिक पाई जाती है,क्योंकि गावो में पर्याप्त मात्रा में भोजन, रहने का स्थान, व साफ वातावरण आसानी से मिल जाता है, गौरैया का जीवन काल मात्र 4 से 7 साल होता है, एवं इसका वजन 50 ग्राम से भी कम होता है। यह चिड़िया देखने में छोटी होती है, लेकिन अन्य चिड़ियो के मुकाबले कई गुना फुर्तीली होती है।

ये चिड़िया उड़ते समय बार-बार ऊपर- नीचे होती रहती है, जिसे गाव की भाषा में फुदक-फुदक कर उड़ना कहते है, इसी कारण आज भी भारत के कई गावो में गौरैया को फुद्गुइया के नाम से जानते है। जिसका अर्थ फुदक-फुदक के उड़ने से है। Read- नारी सशक्तिकरण पर निबंध

गौरैया की पहचान

गौरैया एक छोटी पक्षी (चिडिया) का नाम है, जो की 50 ग्राम से कम वजन की होती है, यह, हल्का भूरे, सफेद व काले रंग की होती है। इसकी चोंच पीली व काली और पैरो का रंग हल्का पीला होता है। और इसके छोटे-छोटे पंख होते है जिसका रंग हल्का भूरा, सफेद व काला होता है।

इसकी लम्बाई मात्र 14 से 15 से०मी० की होती है। गौरैया चिडिया ज्यादातर गावो में रहना पसंद करती है  ।

गौरैया का भोजन

आम चिडियो के जैसे गौरैया पक्षी भी सर्वाहारी होती है, इसका मुख्य भोजन छोटे-छोटे कीट, अनाज, फलो के बीज, फूलो के बीज इत्यादि है, आमतौर पर गौरैया एक सामाजिक पक्षी होती है, जो की लोगो साथ रहती है,

गौरैया के रहने का स्थान

गौरैया पक्षी पहाडो, जंगलो के अपेक्षा गावो मे रहना पसंद करती है, इसलिये इन्हे सामाजिक पक्षी भी कहा जाता है, ये अपना घोसला लचकीले तनो, सरपतो, व कच्चे मकानो मे बनाना पसंद करती है, इनका घोसला, गुम्बज आकार का होता है, जिन्हे आप चित्र मे देख सकते है।

गौरैया ज्यादातर झुण्ड मे रहना पसंद करती है, ये पक्षीया अन्य पक्षियो के अपेक्षा अधिक शांत प्रिय व आकर्षक होती है, इन्हे गावो के कुओ, हैंडपंप, व तालाब के किनारे बने छोटे-छोटे गढो मे नहाना पसंद होता है,

गौरैया की प्रजातियां

छोटी सी दिखने वाली गौरैया की कूल 6 प्रजातिया पाई जाती है। गौरैया की निम्नलिखित प्रजातिया नीचे तालिका मे दी गई है। गौरैया के प्रकार- 1. हाउस स्पैरो 2. सिंड स्पैरो 3. रसेट स्पैरो 4. स्पेनिश स्पैरो 5. ट्री स्पैरो डेड सी स्पैरो    

Read- चिपको आंदोलन क्या है?

गौरैया के विषय मे पांच वाक्य

  • गौरैया की उम्र मात्र 4 से 7 साल की होती है।
  • गौरैया का वजन 50 ग्राम से भी कम होता है।
  • गौरैया हल्का भूरे, सफेद व काले रंग की होती है।
  • गौरैया की 6 प्रकार की प्रजातिया पाई जाती है।
  • गौरैया सर्वाहारी होती है।
  • पढे- Essay on tree

गौरैया पर कविता (Sparrow Poem in Hindi)

गौरैया रानी, गौरैया रानी कविता

गौरैया रानी, गौरैया रानी
आओ सुनाओ गीत सुहानी
मन को मेरे प्रफुल्लित करदो
गा दो एक गीत प्यारी
गौरैया रानी, गौरैया रानी
आओ सुनाओ गीत सुहानी
तू छोटी सी, नन्ही पक्षी
सबसे अच्छी, सबसे अच्छी
गीत सुनाओ, जल्दी आओ
दूर बैठ कर, मत सताओ
आओ, आओ, मेरे घर आओ
गीत सुनाओ, मन बहलाओ
गौरैया रानी, गौरैया रानी
आओ सुनाओ गीत सुहानी
कवि:- Sooraz

जाने- ग्लोबल वार्मिंग का कारण व उपाय

निष्कर्स:- इस लेख मे हमने गौरैया के बारे (About Sparrow in hindi) मे पढा और गौरैया पर निबंध (Essay on sparrow in Hindi) तथा गौरैया पर कविता (Poem on Sparrow) भी पढी, यह लेख आप को कैसा लगा, कमेंट मे अपना सुझाव अवश्य दे, साथ ही हमारे साथ जुडने के लिये, फालो करे