कोरोना वायरस का मानव जीवन पर प्रभाव । Corona virus ka manav jivan par prabhav

कोरोना वायरस का मानव जीवन पर प्रभाव निबंध
corona ka manav jeevan par prabhav essay in hindi

कोरोना वायरस मानव जीवन पर बहुत बुरा प्रभाव डाला है आयें जानते है कैसे ,COVID-19 महामारी ने दुनिया भर में मानव जीवन का बहुत बडा नुकसान किया है जैसे- सार्वजनिक स्वास्थ्य, खाद्य प्रणालियों और काम की दुनिया के लिए एक अभूतपूर्व चुनौती पेश की है।महामारी के कारण होने वाला आर्थिक और सामाजिक बदलाव विनाशकारी है:
लाखों लोगों के गरीबी में गिरने का ख़तरा अपनी सीमा छूने लगा है , जबकि कुपोषित लोगों की संख्या, जो वर्तमान में लगभग 690 मिलियन अनुमानित है, वह भी साल के अंत तक 132 मिलियन तक बढ़ सकती है।


कोरोना वायरस का व्योवसायो पे क्या प्रभाव पडा


कोरोना वायरस के कारण लाखों छोटे-छोटे व्यवसाय पर ख़तरा मंडरा रहा है। दुनिया के लगभग 3.3 बिलियन वैश्विक कार्यबल में से लगभग आधे को अपनी आजीविका खोने का खतरा है lockdown के दौरान जिसका परिवार सिर्फ नौकरी के पैसों से चल रहा था अब नौकरी के बिना पैसा कमाने का स्त्रोत ना होने के कारण वो अपने परिवार का भरण पोषण करने में असमर्थ हैं। अधिकांश के लिए तो पैसा नहीं का अर्थ है कोई भोजन नहीं, अगर है भी तो कम भोजन और कम पौष्टिक भोजन ही मिल पा रहा है ,जिससे वो कुछ दिनो बाद अपने स्वस्थ्य की चिंता मे लग जायेंगे ।

ऐसे मे लोगो को जीवन व्यापन करने के तरीको को खोजना पड रहा है, जिसे हम नौकरी या व्यवसाय कहते है, इस महामारी के कारण लोगो का वायरस से मृत्यु हुआ ही था परंतु इसके वजह से होने वाले लाकडाउन के कारण अकल्पनीय बदलाव, जैसे- नौकरी छूट जाना, व्यवसाय का ठप्प हो जाना, खाद्य सामग्री न मिलना, वातावरण के स्पर्श से दूर रहना, इत्यादि अन्य प्रकार के रुकावटो से मनुष्य ज्यादा प्रभावित हुआ है ।

कोरोना वायरस का नौकरियों पे क्या प्रभाव पडा


कोरोना वायरस व्यवसाय और नौकरियों दोनो पे बहुत बुरा असर डाला है महामारी ने नौकरियों को खत्म कर दिया है और लाखों लोगों की आजीविका को खतरे में डाल दिया है। जैसे-जैसे रोज़ का कमाने वाले नौकरी खोते हैं, अगर आज बीमार पड जायेंगे तो भुखमरी से मर जायेंगे
लाखों महिलाओं और पुरुषों की खाद्य सुरक्षा और पोषण खतरे में है कम GDP वाले देशों में, विशेष रूप से सबसे अधिक तथा दीहाडी पर रहने वाली आबादी, जिसमें छोटे पैमाने के किसान और स्वदेशी लोग शामिल हैं।
लाखों श्रमिक – मजदूरी और स्वरोजगार – करते है दुनिया का पोषण करते हुये खुद गरीबी, कुपोषण और खराब स्वास्थ्य का सामना करते हैं,
और सुरक्षा के साथ-साथ अन्य प्रकार के दुर्व्यवहार से पीड़ित हैं मानसिक तनाव क्या है

कोरोना वायरस का मानव जीवन पर प्रभाव
कोरोना फोटो

कोरोना वायरस से किसानों पर क्या प्रभाव पडा

कोरोना वायरस के कारण छोटे व्यवसायो पर खतरा तो पडा ही है लेकिन इसने गाँव मे रहने वाले किसानों को भी नही छोटा है कोरोना की वजह से किसानी कर रहे लोगो और उनके फसलो पर बहुत बुरा प्रभाव डाला है एक शब्द मे समझा जाय तो महामारी पूरी खाद्य प्रणाली को प्रभावित कर दिया है पहले lockdown मे इसकी नाजुकता को हम देख ही चुके है पहले lockdown मे Border closures, trade restrictions and confinement किसानों को बाजारों तक पहुंचने से रोक रहा है

सरकार द्वारा नई योजना की पहल हुई है अभी किसान भाइयो फार्म भरे – ई-श्रम कार्ड योजना फार्म भरे , आनलाइन आवेदन करे


जिसमें सामान खरीदने और अपनी उपज (फसल) बेचने के लिए गाँव से शहर जाना होता था और कृषि श्रमिकों को फसलों की कटाई से रोकना, इस प्रकार घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय food chain को बाधित करना ,और स्वस्थ्य सुरक्षित और विविध आहार तक पहुंच को कम करना शामिल था .

Covid-19 मे टिकाकरण के लिये आवेदन कैसे करे Free

अगर आप कोविड-१९ का टीका लगवाना चाहते है तो सबसे पहले आप ओनलाइन रजिस्ट्रेसन करना होगा , उसके लिये आप को दिये गये लिंक पर जा कर , देखना है की फार्म कैसे भरे, किस दिन का डेट बूक करे , आप को वहा सारा प्रोसेस मिल जायेगा

Covid-19 मे टिकाकरण के लिये आवेदन link – click here इस लिंक मे आप को सारी जानकारी दी गई है, लेकिन अगर आप को फिर भी कोइ दिक्कत हो रही है तो आप कमेंट बाक्स मे अपना प्रश्न पुछ सकते है ,हम आप के प्रश्न का जवाब जल्द देने की कोसीस करेंगे ।

covid- 19 official website : click here>> यहा पे आप कोरोना की सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *