कोरोना वायरस पे निबंध हिंदी मे | Short Essay on corona virus in hindi

Short Essay on corona virus in hindi

Short Essay on corona virus in hindi { 500 words}

आज हम सब इस अर्टिकल मे कोरोना पर निबंध पढने जा रहे है इसमे आप को कई प्वाइट मिल जायेंगे , जैसे कोरोना वायरस पर निबंध ५०० शब्दो मे ,और कोरोना वायरस पर निबंध कक्षा १० के लिये , और तो और छोटी कक्षायो को नजर मे रखते हुये कोरोना वायरस पर निबंध ३०० शब्दो मे इत्यादि अगर आप को आर्टिकल पसंद आता है शेयर करना ना भूले ।

कोरोना वायरस पर निबंध 500 शब्दो मे | कोरोना वायरस पर निबंध कक्षा 10

Short Essay on corona virus in hindi { 500 words}

कोरोना वायरस मानव जीवन पर बहुत बुरा प्रभाव डाला है, जिसने भारत भर मे नही बल्की पुरे विश्व को प्रभावित कर दिया है कोरोना वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। (WHO) के मुताबिक बुखार,खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके मुख्य लक्षण हैं। लेकिन आप को घबराने की जरुरत नही वायरस को फैलने से रोकने वाला टीका बन चुका है

जिसे आप आनलाइन रजिस्ट्रेसन कर सकते है कोरोना की वजह से पुरे विश्व मे लगमभ इतने लोगो ने जान गवा दिये है,सार्वजनिक स्वास्थ्य, खाद्य प्रणालियों और काम की दुनिया के लिए एक अभूतपूर्व चुनौती पेश की है।महामारी के कारण होने वाला आर्थिक और सामाजिक बदलाव विनाशकारी है लाखों लोगों के गरीबी में गिरने का ख़तरा अपनी सीमा छूने लगा है ,जबकि कुपोषित लोगों की संख्या, जो वर्तमान में लगभग 690 मिलियन अनुमानित है, वह भी साल के अंत तक 132 मिलियन तक बढ़ सकती है।

कोरोना ने व्यवसाय और नौकरियों दोनो पे भी बहुत बुरा असर डाला है महामारी ने नौकरियों को खत्म कर दिया है और लाखों लोगों की आजीविका को खतरे में डाल दिया है। रोज़ के काम से कमाने वाले लोग काम नही पाते है ,जिससे पैसो की तंगी हमेशा रहती है और इसी बीच कोरोना महामारी के कारण अगर बीमार पड जायेंगे तो भुखमरी से मर जायेंगे क्योकी वो इतने पैसे ही कमा पाते थे जिससे उनका परिवार चल सके ,लाखों महिलाओं और पुरुषों की खाद्य सुरक्षा और पोषण खतरे में है कोरोना वायरस के कारण लाखों छोटे-छोटे व्यवसाय पर ख़तरा मंडरा रहा है।

दुनिया के लगभग 3.3 बिलियन वैश्विक कार्यबल में से लगभग आधे को अपनी आजीविका खोने का खतरा है lockdown के दौरान जिसका परिवार सिर्फ नौकरी के पैसों से चल रहा था अब नौकरी के बिना पैसा कमाने का स्त्रोत ना होने के कारण वो अपने परिवार का भरण पोषण करने में असमर्थ हैं। कोरोना वायरस ने मानव जीवन पर बहुत बूरा प्रभाव डाला है

कोरोना के लक्षण

अगर किसी को कोरोना हो गया है तो उसको पहले बुख़ार होता है इसके बाद सूखी खांसी होती है फिर कुछ दिनो बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है। अगर आप को खुद मे एसे लक्षण दिखे तो घबराइये मत इसका मतलब यह नहीं है कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण है। कोरोना वायरस के मामलों में निमोनिया, सांस लेने में बहुत ज़्यादा परेशानी, किडनी फ़ेल होना और यहां तक कि मौत भी हो सकती है। बुजुर्ग या जिन लोगों को पहले से अस्थमा, मधुमेह या हार्ट की बीमारी पहले से है उनके मामले में ख़तरा गंभीर हो सकता है लेकिन ध्यान रखे ज़ुकाम और फ्लू के वायरसों में भी इसी प्रकार के लक्षण पाए जाते हैं।

कोरोना वायरस पर निबंध 300 शब्दो मे कोरोना वायरस पर निबंध कक्षा 3 से 8

Short Essay on corona virus in hindi { 300 words}

हम सभी  COVID-19 महामारी से प्रभावित हुए हैं। हालाँकि, महामारी के प्रभाव और इसके परिणाम अलग-अलग तरह से महसूस किए जाते हैं जो व्यक्तियों और समाज के लोगों स्वास्थ्य पर निर्भर करता हैं। COVID-19 बड़े पैमाने पर लोगों की जान ले चुका  है।COVID-19 महामारी को हम छुआ – छूत की बीमारी भी कह सकते है क्योंकि ये बीमारी एक दूसरे को छुने से होता है

इस महामारी ने अनगिनत बेगुनाह की जाने ले ली है, इसके कारण समाज, देश में अकल्पनीय बदलाव देखने को मिला जिससे पुरा देश झेल रहा है जैसे की, हजारों की तदात में नौकरियाँ छीन जाना, भोजन की कमी होना, व्यवसाय में मंदी आना, शिक्षा में रुकावट आना, इत्यादि, एक समाज के लिये जितने चीजो की आवश्यकता होती है कोरोना की वजह से उसमे काफी रुकावटें आई है जो की समाज को बुरी तरह प्रभावित किया,  

विभिन्न सामाजिक पहचानो (जैसे वर्ग, लिंग, आयु, नस्ल और चिकित्सा इतिहास) के आंकड़ों पर करीब से नज़र डालने से पता चलता है कि अल्पसंख्यक महामारी से असमान रूप से प्रभावित हुए हैं।

कोरोना वायरस का नौकरियों पे प्रभाव

COVID-19 महामारी ने लोगों के नौकरियों पर भी काफी बुरा असर डाला है इसने हजारों की संख्या में लोगों से उनकी नौकरियाँ छिन चुका है जिससे अब वो बहुत परेशान है, और अपने परिवार का पालन पोषण सही से नहीं कर पा रहे है क्योंकि नौकरी मात्र ही उनके पैसे कमाने का स्रोत था, जो की COVID-19 महामारी की वजह से छीन चुका हैअब वो असहाय लोगों की तुलना में आ गये है , कुछ काम ना होने के कारण वो अब घर ही रहते है कोरोना से जो लोग बच भी जा रहे वो चिंता, तनाव जैसे गम्भीर बीमारियों का शिकार हो जा रहे है जो की स्वास्थ्य के लिये काफी हानिकारक है

कोरोना वायरस का शिक्षा पे प्रभाव

COVID-19 महामारी ने शिक्षा के क्षेत्र में भी बुरा असर डाला है, COVID-19 महामारी की वजह से कई स्कूल , कालेज, कोचिंग सेंटर बंद करने पडे थे , जिससे बच्चे की शिक्षा पर बुरा असर पडा , अगर शिक्षा के  क्षेत्र से देखा जाये तो कोरोना ने हमें कई वर्ष पीछे उठाकर फेंक दिया है जिससे उबर पाने में थोडा ज्यादा समय लगेगा , कोरोना महामारी को आज हम कई नाम देंगे , जैसे, शिक्षा महामारी , नौकरियों की महामारी , पालन पोषण की महामारी ,व्यवसायों की महामारी इत्यादि ।

कोरोना वैक्सीन कैसे लगवाये

कोरोना वैक्सीन लगवाने लिये सबसे पहले आप को कोरोना के ओफिसियल वेबसाइट पे जाना होगा जहा पे आप को अपने मोबाइल नम्बर से रजिस्ट्रेसन करना होगा, आप को अपने सुविधा अनुसार अपना नजदीकी कोरोना केंद्र चुनना होगा , फिर आप को स्लोट बूकिंग करना होगा , अपने सुविधा अनुसार टीका लगवाने का दिनाक ,समय और केंद्र चून सकते है ,अगर आप को फार्म भरने मे दिक्कत आ रही है तो कृपया दिये गये लिंक पर जाके समझ सकते है

कोरोना वैक्सीन लगवाने का फार्म भरने का पुरा विवरण ,

note :- फार्म भरने पहले जरुर पढे covid-19 फार्म कैसे भरा जाता है

कोरोना वैक्सीन फार्म का covid-19 ओफिसीयल साइट

1 thought on “कोरोना वायरस पे निबंध हिंदी मे | Short Essay on corona virus in hindi”

  1. Pingback: कोरोना वायरस का मानव जीवन पर प्रभाव । Corona virus ka manav jivan par prabhav - किसानों पर प्रभाव [2021]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *