कविता

हिंदी दिवस पर कविता & नारा | Hindi Diwas par Kavita

Hindi Diwas: हिंदी हमारी मातृभाषा है जो आज पूरे विश्व मे, सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाओ मे से एक है। आपको जानना चाहिए कि हमारे भारत देश मे 22 से अधिक भाषायें बोली जाती है जिन्हे सैंवधानिक मान्यता भी प्राप्त है। आज हम सब इस संग्रह मे हिंदी दिवस (Hindi Diwas) पर कुछ कविताएं …

हिंदी दिवस पर कविता & नारा | Hindi Diwas par Kavita Read More »

बेटियों पर दिल छु जाने वाली कविताएं | Heart Touching Poem on Daughter in Hindi

इस पोस्ट में मैंने बेटियों पर “दिल छू जाने वाली कविता (Heart Touching Poem on Daughter)” का संग्रह किया हैं। ये कविताएं, हिंदी साहित्य के लोकप्रिय कवियों द्वारा लिखी गई हैं। वर्त्तमान में भी हमारे समाज में, परिवार के किसी सदस्य के घर लड़की के जन्म होने पर, लोग उसे बोझ समझने लगते हैं लेकिन …

बेटियों पर दिल छु जाने वाली कविताएं | Heart Touching Poem on Daughter in Hindi Read More »

पर्यावरण पर 2 नई कवितायें – paryavaran par kavita

paryavaran par kavita: पर्यावरण हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है और यह हमारे जीवन के कई पहलूओ पर प्रभाव डालता है। क्योकि पर्यावरण से ही हमें वायु, खाद्य संशाधन, जल, ऊर्जा आदि स्रोतो की प्राप्ति होती है। जो हमारे जीवन के लिये बेहद आवश्यक है जिसके बिना जीवन की कल्पना नही की जा सकती। पर्यावरण …

पर्यावरण पर 2 नई कवितायें – paryavaran par kavita Read More »

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की 5 प्रसिध्द कवितायें | suryakant tripathi nirala poems in Hindi

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ (suryakant tripathi nirala) जी हिंदी साहित्य के प्रमुख कवियों मे से एक है। इनका जन्म 21 फरवरी 1899 को बंगाल के मेदिनीपुर जिला में हुआ था। इन्हे छायावादी युग के चार स्तंभों में से एक माने जाते है। सूर्यकांत त्रिपाठी निराला ने अपनी कविताओं में विभिन्न विषयों पर गहराई से विचार किया …

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की 5 प्रसिध्द कवितायें | suryakant tripathi nirala poems in Hindi Read More »

hasya kavita: 5+ हास्य कवितायें जो आपको हसने पर मजबूर कर देगी

कवितायें पढना तो सभी का शौक होता है। आज हम इस लेख मे हास्य कविता (hasya kavita) का संग्रह किये है। जिन्हे पढकर आपका मन प्रशन्न हो जायेंगा। अगर आप भी कविताये लिखना पसंद करते है तो हमारे साथ सांझा जरुर करे। कविता पढ़ने से हमारी भावनाओं का संतुलन बना रहता है। कविताएँ हमें खुशी, …

hasya kavita: 5+ हास्य कवितायें जो आपको हसने पर मजबूर कर देगी Read More »

माँ पर लिखी गई प्रसिद्ध कविताएं (Maa par Kavita)

माँ का महत्व जीवन में क्या है। यह सिर्फ वह जान सकता है जिसे माँ का प्यार ना मिला हो। माँ की इस संसार में सिर्फ किसी से तुलना हो सकती है तो वह है माँ। आइये मां पर कुछ कविताये (maa par kavita) पढे लोग कहते हैं इस संसार में भगवान् कहीं है तो …

माँ पर लिखी गई प्रसिद्ध कविताएं (Maa par Kavita) Read More »

कुमार विश्वास की प्रसिध्द प्रेम कविताएं – kumar vishwas ki kavita

kumar vishwas ki kavita: वर्तमान भारत के प्रसिध्द कवियों मे डाक्टर कुमार विश्वास अग्रणी है। इनका जन्म 10 फरवरी 1970 को उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ियाबाद में एक मध्यवर्गी परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम डॉ॰ चन्द्रपाल शर्मा, एवंं माता का नाम रमा शर्मा है। वैसे तो विश्वास जी की सभी शायरिया / कविताये …

कुमार विश्वास की प्रसिध्द प्रेम कविताएं – kumar vishwas ki kavita Read More »

कविता: समय बहुत ही मूल्यवान है, हरिकृष्ण देवसरे द्वारा लिखित ये कविता वर्तमान जीवन जीने की कला सीखाती है, एक बार जरुर पढे।

हरिकृष्ण देवसरे जी ने इस कविता मे वर्तमान समय के महत्व को अपने कविता के बताया है। उन्होने बताया है की समय बहुत ही मूल्यवान है । इसलिये हमे समय का सदा ही सदउपयोग करना चाहिये। कविता मे ही आप इस पक्ति को पढेंगे (लाख यत्न करने पर भी. हाथ न उसके आया) अर्थात एक …

कविता: समय बहुत ही मूल्यवान है, हरिकृष्ण देवसरे द्वारा लिखित ये कविता वर्तमान जीवन जीने की कला सीखाती है, एक बार जरुर पढे। Read More »

नर हो न निराश करो मन को, कुछ काम करो, कुछ काम करो, ये प्रेरणादायक कविता आपको सफल बनायेगी, एक बार जरुर पढे

नर हो, न निराश करो मन को, कुछ काम करो, कुछ काम करो” इस कविता के लेखक मैथलीशरण गुप्त जी है। जिनका जन्म भारत के उत्तर प्रदेश राज्य मे 3 असस्त 1886 मे हुआ था। ये एक अच्छे लेखक के साथ-साथ, कवि, राजनेता, नाटककार भी थे। मैथलीशरण गुप्त जी ने जीवन से जुडी कई कहानिया, …

नर हो न निराश करो मन को, कुछ काम करो, कुछ काम करो, ये प्रेरणादायक कविता आपको सफल बनायेगी, एक बार जरुर पढे Read More »

झांसी की रानी: 2 प्रसिध्द कवितायें | Rani Lakshmi bai poem in Hindi

Rani Lakshmi bai poem in Hindi | rani Laxmi bai poem in Hindi झांसी के रानी क जन्म 19 नवम्बर 1828 ई० मे उत्तर प्रदेश के आध्यात्मिक शहर वाराणसी मे हुआ था। इनके पिता का नाम मोरपंत व माता का नाम भागीरथी था। इन्होने मात्र 29 वर्ष की आयु मे अग्रेजो के साथ युध्द किया …

झांसी की रानी: 2 प्रसिध्द कवितायें | Rani Lakshmi bai poem in Hindi Read More »

Scroll to Top