व्रत मे क्या खाये और क्या न खाये | vrat me kya khaye

क्या आपके मन मे भी यह प्रश्न उठता है कि व्रत मे क्या खाये (vrat me kya khaye) और क्या न खाये, आज हम इस लेख मे इसी प्रश्न का उत्तर जानेंगे, हम सब को मालूम है कि हिंदू धर्म मे प्रत्येक माह मे कोई न कोई त्योहार आता रहता है जो हिंदू धर्म की विशेषता को दर्शाता है।

vrat me kya khaye image
vrat me kya khaye

हिंदू धर्म मे प्रत्येक दिन किसी न किसी देवी-देवता का दिन होता है जैसे सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है, मंगलवार का दिन महावीर (हनुमान) जी को समर्पित है आदि, अत: लोग अपनी मनोकामना पूर्ण करने हेतु अपने इष्ट देवता के अनुसार व्रत रखते है। व्रत कैसा भी भोजन सामग्री समान होती है जिनका उल्लेख नीचे किया गया है।

व्रत मे क्या खाये – vrat me kya khaye

आपको जानना चाहिए कि व्रत एक आध्यात्मिक प्रथा है जिसमें आस्था और संयम का होना जरुरी है। व्रत या उपवास एक ऐसी साधना है जिसके द्वारा हम अपने मन व आत्मा को नियंत्रित कर स्वयं को ईश्वर के प्रति समर्पित करते हैं। अत: व्रत में अन्न और पानी की मर्यादा रखनी चाहिए। अत: अगर आप व्रत रख रहे है तो स्वयं को ईश्वर के प्रति समर्पित कर दे, और उस दिन कम से कम खाद्य पदार्थ खाये, लेकिन व्रत के दिन आप यह निम्न वस्तुए खा सकते है।

व्रत मे क्या खाये – vrat me kya khaye

  • फल (सेब, केला, अंगूर, पपीता, अनार, अमरुद, आम, आदि)
  • सिंहाड़े का हलवा
  • उबले हुए आलू
  • साबूदाना
  • कूटू के पराठे/हलवा
  • मूँगफली दाना / हलवा
  • लौकी का हलवा
  • नारीयल / नारीयल का हलवा
  • दही – चीनी
  • गन्ने का रस
  • मखाने का खीर
  • आलू का हलवा
  • बेल का रस
  • श्रीखंड
  • गाजर का हलवा
  • देशी गुड
  • चीनी की सरबत
  • बादाम, किसमिस , अखरोट , मेवा आदि

व्रत में नमक का प्रयोग– अगर आप व्रत मे नमक का प्रयोग करना चाहते है तो ध्यान रहे कि आपको साधारण नमक का प्रयोग ना करके सेन्हा नमक का प्रयोग करना है, जो विशेषकर व्रत के लोगो के लिये बनाया जाता है।

सम्बंधित लेख

व्रत मे तेल/घी/रिफाईन का प्रयोग– अगर आप व्रत मे है तो तेल व रिफाईन का प्रयोग करने से बचे, लेकिन आप देशी घी का प्रयोग खाने के लिये कर सकते है।

उपवास में सबसे अधिक खाये व पीये जाने वाले पदार्थ

उपवास में क्या खाना चाहिए & उपवास में क्या पीना चाहिए

उपवास में क्या खाना चाहिएउपवास में क्या पीना चाहिए
गाजर का हलवा गन्ने का रस
आलू का हलवाबेल का रस
फल नारीयल पानी
मूंगफली दाना / हलवाअनार का जूस
नारीयल / नारीयल का हलवा संतरा का जूस
सिंहाड़े का हलवादही-चीनी का रस
साबूदानाचीनी का रस
श्रीखंडमिल्क शेक
काजू, किसमिस, मेवा आदिमैंगो शेक
बादाम का हलवाबादाम दूध
उपवास में क्या खाना चाहिए & उपवास में क्या पीना चाहिए

व्रत मे क्या ना खाये – vrat me kya Na khaye

vrat me kya na khaye image

हमे मालूम है कि व्रत ईश्वर के प्रति हमारे समर्पण को दर्शाता है, अर्थात व्रत एक ऐसी साधना है जिसके द्वारा हम अपने इष्ट देवता के प्रति समर्पण का भाव प्रकट करते हैं। अत: व्रत मे किसी भी वस्तु को खाने मे मर्यादा रखनी चाहिए है। लेकिन आधुनिकता मे इसका पालन नही किया जा रहा है लोग ढेर सारे भोजन के साथ-साथ व्रत मे मना किये गये भोजन का भी सेवन कर रहे है। आइये जानते है कि व्रत मे क्या ना खाये ( vrat me kya Na khaye)

व्रत मे क्या ना खाये – vrat me kya Na khaye

  • साधारण नमक का सेवन ना करे।
  • तेल, रिफाइन का सेवन ना करें
  • करैला, भिण्डी, तरुई, आदि सब्जियों का सेवन ना करें
  • लहसून का सेवन ना करें
  • प्याज ना खाये
  • जीरा जल ना पीये

उपवास में क्या नहीं खाना चाहिए: उपवास मे प्याज, लहसून, मिर्चा, तेल, रिफाईन, साधारण नमक, आदि का सेवन करने से बचना चाहिये।

उपवास करने के आध्यात्मिक फायदे

उपवास या व्रत करने के कई आध्यात्मिक फायदे है जो निम्नलिखित है।

  • व्रत करने से मन शांत व स्थिर होता है।
  • व्रत करने से मनोकामना पूर्ण होती है।
  • व्रत, मनोकामना पूर्ण होने के पश्चात भी किया जाता है।
  • व्रत करने से इष्ट देवता खुश होते है।
  • उपवास करने से मानसिक और आध्यात्मिक शुद्धि होती है।
  • व्रत करना अपने इष्ट देवता को प्रसन्न करने का सबसे उचित उपाय है
  • व्रत हमे आध्यात्मिक विकास मे मदद करता है।

उपवास करने के वैज्ञानिक फायदे

व्रत करने के कई आध्यात्मिक फायदो के साथ-साथ वैज्ञानिक फायदे भी होते है जो निम्नलिखित है।

  • उपवास करने से शरीर का पाचन तंत्र मे सुधार होता है।
  • उपवास करने से शरीर से विषैले तत्व बाहर निकल जाते है।
  • व्रत या उपवास करने से आंतों को आराम मिलता है।
  • व्रत करने से शरीर की पुनर्निर्माण की क्षमता मे वृध्दि होती है।
  • व्रत करने से पाचन शक्ति मजबूत होती है।
  • उपवास हमे कई रोगों से बचाता है।
  • उपवास करने से शारीरिक और मानसिक सामर्थ्य में वृद्धि होती है।
चारों धामो के नाम जाने
ईश्वर मे विश्वास पर दोहे
श्री कृष्ण के प्रसिध्द मंत्र
नक्षत्रो के नाम एवं उनकी आकृति
आस्था से सम्बंधित लेख

हेलो पाठको! उम्मिद है आप कुशल-मंगल होंगे, आज हमने इस लेख मे व्रत मे क्या खाये (vrat me kya khaye) और व्रत मे क्या ना खाये (vrat me kya na khaye) को जाना, यह लेख आपके लिये कितना उपयोगी रहा, कमेंट मे अपने विचार अवश्य दे, साथ ही इस लेख को अपने दोस्तो, परिवार जनो को जरुर सांझा करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top