शनि देव भगवान के 108 नाम और 108 मंत्र जानें | Shani Dev 108 Names & Mantra in Hindi

Shani Dev 108 Names: भगवान शनि देव को सूर्य पुत्र भी कहां जाता है। इनका मुख्य दिन शनिवार (Saturday) का दिन माना जाता है। मान्यता है की इस दिन शनि देव की पूजा करने से, सभी कष्ट दूर हो जाते है। और जीवन मे सुख – समृध्दि आने लगता है।

Shani Dev 108 Names

हमारे हिंदू संस्कृति मे शनि देव को अधिक गुस्सा करने वाले देवताओं मे माना जाता है। लोगो का मानना है की शनि भगवान जिसपर गुस्सा हो जाते है, उसके जीवन को दुखो व कष्टो से भर देते है। और जिनपर खुश हो जाते है उनके जीवन को सुखमय, आनंदमय, सभी ऐसो आराम से भर देते है।

शनि भगवान के 108 नाम (108 Names of Shani Dev Hindi)

शनि महराज का मुख्य दिन शनिवार होता है, इस दिन भगवान शनि देव की प्रतिमा, और शनि वृक्ष का पूजन करने से शनि देव की कृपा जीवन आनंदमय हो जाता है, शनि देव की कृपा आप के पूरे परिवार पर बरसती है। आइये शनि देव के 108 नामों को जानते है, अगर आप शनि भगवान के 108 नामों का मंत्र उच्चारण करना चाहते है, तो नीचे दिये गये लेख को पढ सकते है, तथा डाउनलोड भी कर सकते है। महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ जाने

शनि भगवान के 108 नाम (108 Names of Shani Dev in Hindi)

शनि
शनैश्चर
निरामय
सर्वेश
मन्दचेष्ट
निश्चल
वेद्य
विधिरूप
वज्रदेह
वैराग्यद
वीर
महेश
छायापुत्र
शर्व
सुंदर
शांत
घन
सुरवन्द्य
घनरूप
सौम्य
शरण्य
खद्योत
मन्द
वरेण्य
अचञ्चल
नीलवर्ण
नित्य
विश्ववन्द्य
गृध्नवाह
गूढ
कूर्माङ्ग
कुरूपिण्
कुत्सित
गुणाढ्य
गोचर
आपदुद्धर्त्र
विष्णुभक्त
वशिन्
विधिस्तुत्य
वन्द्य
विरूपाक्ष
वरिष्ठ
गरिष्ठ
वज्राङ्कुशधर
वरदाभयहस्त
वामन
ज्येष्ठापत्नीसमेत
श्रेष्ठ
मितभाषिण्
कष्टौघनाशकर्त्र
पुष्टिद
स्तुत्य
भानु
भानुपुत्र
भव्य
पावन
धनुर्मण्डलसंस्था
धनदा
धनुष्मत्
तनुप्रकाशदेह
तामस
वशीकृतजनेश
पशूनां पति
खेचर
नित्य
निर्गुण
गुणात्मन्
निन्द्य
वन्दनीय
धीर
क्रूर
अविद्यामूलनाश
आयुष्यकारण
विद्याविद्यास्वरूपिण्
विविधागमवेदिन्
क्रूरचेष्ट
घननीलाम्बर
दिव्यदेह
दीनार्तिहरण
काठिन्यमानस
आर्यगणस्तुत्य
नीलच्छत्र
दैन्यनाशकराय
आर्यजनगण्य
कामक्रोधकर
महनीयगुणात्मन्
मर्त्यपावनपद
घनाभरणधारिण्
स्तोत्रगम्य
भक्तिवश्य
अशेषजनवन्द्य
विशेषफलदायिन्
शततूणीरधारिण्
सर्वाभीष्टप्रदायिन्
नीलाञ्जननिभ
वीतरोगभय
विपत्परम्परेश
नीलाम्बरविभूशण
चरस्थिरस्वभाव
घनसारविलेप
विरोधाधारभूमी
सुरलोकविहारिण्
सुखासनोपविष्ट
भेदास्पदस्वभाव
कलत्रपुत्रशत्रुत्वकारण
परिपोषितभक्त
परभीतिहर
भक्तसंघमनोऽभीष्टफलद
Shani Dev 108 Names

शनि भगवान के 108 नाम फोटो- 108 Names of Shani Dev Image

भगवान शनि देव जी के 108 नाम

इन्हे भी पढे-

108 names of lord shani dev, 108 names of shani dev

शनि देव भगवान के 108 नाम और 108 मंत्र जानें | Shani Dev 108 Names & Mantra in Hindi
Shani Dev 108 Names

शनि देव जी के नाम पर 108 मंत्र (Shani Dev 108 Mantra)

shani dev ke 108 name, shani dev 108 naam,

ऊँ शनैश्चराय नमः।
ऊँ शान्ताय नमः। 
ऊँ सर्वाभीष्टप्रदायिने नमः।
ऊँ शरण्याय नमः।
ऊँ वरेण्याय नमः।
ऊँ सर्वेशाय नमः। 
ऊँ सौम्याय नमः।
ऊँ सुरवन्द्याय नमः।
ऊँ सुरलोकविहारिणे नमः। 
ऊँ सुखासनोपविष्टाय नमः।
ऊँ सुन्दराय नमः।
ऊँ घनाय नमः।
ऊँ घनरूपाय नमः।
ऊँ घनाभरणधारिणे नमः।
ऊँ घनसारविलेपाय नमः।
ऊँ खद्योताय नमः।
ऊँ मन्दाय नमः।
ऊँ मन्दचेष्टाय नमः।
ऊँ महनीयगुणात्मने नमः।
ऊँ मर्त्यपावनपदाय नमः।
ऊँ महेशाय नमः।
ऊँ छायापुत्राय नमः।
ऊँ शर्वाय नमः। 
ऊँ शततूणीरधारिणे नमः।
ऊँ चरस्थिरस्वभा वाय नमः।
ऊँ अचञ्चलाय नमः।
ऊँ नीलवर्णाय नम:।
ऊँ नित्याय नमः।
 ऊँ नीलाञ्जननिभाय नमः।
ऊँ नीलाम्बरविभूशणाय नमः।
ऊँ निश्चलाय नमः। 
ऊँ वेद्याय नमः।
ऊँ विधिरूपाय नमः।
ऊँ विरोधाधारभूमये नमः।
ऊँ भेदास्पदस्वभावाय नमः।
ऊँ वज्रदेहाय नमः।
ऊँ वैराग्यदाय नमः।
ऊँ वीराय नमः।
ऊँ वीतरोगभयाय नमः।
ऊँ विपत्परम्परेशाय नमः।
ऊँ विश्ववन्द्याय नमः।
ऊँ गृध्नवाहाय नमः। 
ऊँ गूढाय नमः।
ऊँ कूर्माङ्गाय नमः।
ऊँ कुरूपिणे नमः।
ऊँ कुत्सिताय नमः।
ऊँ गुणाढ्याय नमः।
ऊँ गोचराय नमः।
ऊँ अविद्यामूलनाशाय नमः।
ऊँ विद्याविद्यास्वरूपिणे नमः।
ऊँ आयुष्यकारणाय नमः।
ऊँ आपदुद्धर्त्रे नमः।
ऊँ विष्णुभक्ताय नमः।
ऊँ वशिने नमः।
ऊँ विविधागमवेदिने नमः।
ऊँ विधिस्तुत्याय नमः।
ऊँ वन्द्याय नमः।
ऊँ विरूपाक्षाय नमः। 
ऊँ वरिष्ठाय नमः।
ऊँ गरिष्ठाय नमः।
ऊँ वज्राङ्कुशधराय नमः।
ऊँ वरदाभयहस्ताय नमः।
ऊँ वामनाय नमः।
ऊँ ज्येष्ठापत्नीसमेताय नमः।
ऊँ श्रेष्ठाय नमः। 
ऊँ मितभाषिणे नमः।
ऊँ कष्टौघनाशकर्त्रे नमः।
ऊँ पुष्टिदाय नमः।
ऊँ स्तुत्याय नमः।
 ऊँ स्तोत्रगम्याय नमः।
ऊँ भक्तिवश्याय नमः। 
ऊँ भानवे नमः।
ऊँ भानुपुत्राय नमः। 
ऊँ भव्याय नमः।
ऊँ पावनाय नमः। 
ऊँ धनुर्मण्डलसंस्थाय नमः।
ऊँ धनदाय नमः। 
ऊँ धनुष्मते नमः। 
ऊँ तनुप्रकाशदेहाय नमः।
ऊँ तामसाय नमः।
ऊँ अशेषजनवन्द्याय नमः। 
ऊँ विशेशफलदायिने नमः। 
ऊँ वशीकृतजनेशाय नमः।
ऊँ पशूनां पतये नमः।
ऊँ खेचराय नमः।
ऊँ खगेशाय नमः।
ऊँ घननीलाम्बराय नमः।
ऊँ काठिन्यमानसाय नमः।
ऊँ आर्यगणस्तुत्याय नमः।
ऊँ नीलच्छत्राय नमः।
ऊँ नित्याय नमः।
ऊँ निर्गुणाय नमः।
ऊँ गुणात्मने नमः। 
ऊँ निरामयाय नमः। 
ऊँ निन्द्याय नमः।
ऊँ वन्दनीयाय नमः।
ऊँ धीराय नमः।
ऊँ दिव्यदेहाय नमः।
ऊँ दीनार्तिहरणाय नमः। 
ऊँ दैन्यनाशकराय नमः।
ऊँ आर्यजनगण्याय नमः। 
ऊँ क्रूराय नमः।
ऊँ क्रूरचेष्टाय नमः।
ऊँ कामक्रोधकराय नमः।
ऊँ कलत्रपुत्रशत्रुत्वकारणाय नमः।
ऊँ परिपोषितभक्ताय नमः।
ऊँ परभीतिहराय नमः।
ऊँ भक्तसंघमनोऽभीष्टफलदाय नमः।
Shani Dev 108 Names & मंत्र

इस लेख मे हमने shani dev 108 names pdf को देखा, लेख मे कही त्रुटि हो तो कमेंट मे अवश्य बताये, ताकि जल्द से जल्द सुधार किया जा सके। shani 108 namavali,

Leave a Comment

Your email address will not be published.