सामाजिक विज्ञान (Samajik Vigyan) – समाज क्या है।

Samajik Vigyan- समाज के विषय मे अध्ययन

सामाज की जानकारी एकत्रित करना ही सामाजिक अध्ययन कहलाता है, परन्तु सामाजिक विज्ञान एक विषय बन चुका है, जिससे अंतरगर्त सामाज की कई प्रणालीया आती है। आसान भाषा मे समझे तो, समाज के विषय मे सुव्यवस्थिति व सुसंगठित ज्ञान अर्जित करना ही सामाजिक अध्ययन या विज्ञान कहलाता है।

सामाजिक विज्ञान को विस्तार से जानने से पहले, हमे ये जानना होगा की, समाज किसे कहते है।

समाज क्या है – Samaj kya hai

लोगो के समूह को समाज कहते । अर्थात लोगो से मिलकर बने किसी बडे समूह जिससे सभी लोग एक दुसरे के हित मे कार्य करते हो, एक साथ मिलजुल कर रहते हो, , उन्हे समाज कहते है।

दरअसल हमे ये समझना होगा की समाज, एक से अधिक लोगो के समूदाय को कहते है। लेकिन एक सम्पूर्ण और अच्छे समाज की पहचान ये है की, लोग एक दुसरे की भलाई करे, सभी साथ व मिलजुल कर रहे, एक दुसरे का सम्मान करे, इत्यादि कई चीजो से अच्छे समाज की पहचान है।

किसी समाज को भलिभाति जानने के लिये हमे उनकी, विविधता, आजीविका, सरकार, इत्यादि विषयो को जानना जरुरी है। Samajik Vigyan

700 से अधिक लोगो ने पढा

1. शिक्षा का महत्व, निबंध, भाषण।
2. महामृत्युंजय मंत्र और अर्थ
3. गायत्री मंत्र कैसे करे, अर्थ व फायदे

सामाजिक विज्ञान की साखा – Branch of Social Science

सामाजिक विज्ञान के कई अन्य शाखाये है, जिसके अंतरगत हम समाज के बारे मे गहराई से जानते है, सामाजिक विज्ञान एक ऐसा विषय है, जिसके अध्ययन से हम समाज के अच्छाई, बुराई, समाज मे हो रहे अच्छे व बुरे बदलाव को समझकर अपने विचार प्रकट कर सकते है। Samajik Vigyan

राजनिती विज्ञानराजनितीशास्त्र मे हम समाज, पंचायतीराज, प्रशासन व सरकार के बारे मे
अध्ययन करते है।
अर्थशास्त्रअर्थशास्त्र के अंतरगर्त हम वस्तुयो के उत्पादन, वितरण,विनिमय इत्यादि
का अध्ययन किया जाता है।
शिक्षाशास्त्रशिक्षाशास्त्र को हम शिक्षणशास्त्र भी कह सकते है, इसके अंतरगर्त हम
शिक्षा पाने की विधि, शैली और उसके नितियो का अध्ययन किया जाता है।
भूगोलभूगोल वह विद्या है जिसके अंतरगर्त हम मुख्य रुप से पृथ्वी के उपरी भाग,
और प्राकृतिक स्वरुपो का अध्ययन किया जाता है।
इतिहासइतिहास के अंतरगर्त हम, पुरानी जानकारी को पढते है, यह एक वृहद विषय
है, जहाँ हम ये जान पाते है की हमारा, देश दुनिया, समाज, इत्यादि कैसा था।
भाषा विज्ञानभाषा विज्ञान के अंतरगर्त हम सभी भाषाओ के इतिहास, उत्पति, इत्यादि
जानकारी प्राप्त करते है।
मनोविज्ञानमनोविज्ञान के अंतरगर्त मुख्य रुप से मानव के मानसिक प्रतिक्रियाओ,
का अध्ययन किया जाता है।
समाजशास्त्रसमाजशास्त्र के अंतरगर्त के हम मानव समाज का अध्ययन करते है।
मानवशास्त्रमानवशास्त्र के अंतरगर्त हम, मानव, जेनेटिक्स, संस्कृति और समाज की
वैज्ञानिक और समाजशास्त्रिय दोनो रुपो से अध्ययन करते है।

समाजिक विज्ञान मे अधिक पूछे जाने वाले प्रश्न-

  1. सरकार किसे कहते है?
  2. समाज किसे कहते है?
  3. पंचायती राज क्या है?
  4. सविधान के मूल कर्तव्य क्या-क्या है?
  5. समाजिक विज्ञान किसे कहते है?
  6. समाजिक विज्ञान मे किसका अध्ययन किया जाता है?
  7. लोकतंत्र का अर्थ क्या है?
  8. सविधान लिखने मे कितना समय लगा था
  9. सविधान किसने लिखा था?
  10. भारत के प्रथम प्रधानमंत्री का नाम बताये?

यह लेख समाजिक विज्ञान को जानने का एक नमूना है, उपर दिये गये प्रश्नो का उत्तर कमेंट बाक्स मे जरुर बताये, और लेख आप को कैसा लगा कमेंट मे सुझाव देना ना भूले ॥ Join

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *