महादेवी वर्मा जी का जीवन परिचय। Mahadevi Verma biography in hindi : Story, Poem, रचनाये , प्रमुख कृतियाँ

महादेवी वर्मा जी का जीवन परिचय
Mahadevi verma

महादेवी वर्मा जी का जीवन परिचय – महदेवी वर्मा जी का जन्म 24 मार्च 1907 मे उत्तर प्रदेश के फरुर्खाबाद जिले मे हुआ था इनके पिता का नाम गोविंद प्रशाद था जो की भागलपुर विद्यालय के प्रधानाध्यापक थे तथा माता का नाम सलर – हृदया थी महादेवी जी की प्रारम्भिक शिक्षा इंदौर मे हुआ , महादेवी जी का विवाह अल्प आयु मे ही हो गया था उनके पति का नाम स्वरुपनारायण था पुन: शिक्षा प्रारम्भ करके संस्कृत मे एम ए की परीक्षा प्रयाग विध्यालय मे प्रथम क्ष्रेणी से पास किया


जन्म24 मार्च 1907
मृत्यू11 सितम्बर 1987

पिता का नामगोविंद प्रशाद
माता का नामसलर – हृदया
पतिनारायण वर्मा
जिला का नामफरुर्खाबाद
राज्य का नामउत्तर प्रदेश
राष्ट्रीयताभारत
उच्च शिक्षाएम ए संस्कृत
(इलाहाबाद विश्वविद्यालय)
प्रमुख रचनाये1.नीहार
2.रश्मि
3.नीरजा
4.सांध्य गीत
5.दीप शिखा
6.यामा
मृत्यू जिलाप्रयागराज (इलाहाबाद)
व्यवसायउपन्यासकार ,
कवयित्री,
लघुकथा लेखिका
सम्मान1956 पद्मभूषण
1982-ज्ञानपीठ पुरस्कार
1988पद्मविभूषण
महादेवी वर्मा जी का जीवन – परिचय । सम्मान

महादेवी वर्मा जी की शिक्षा

Mahadevi Verma जी की शिक्षा इंदौर मे प्रारम्भ हुई ,इनके पिता का नाम गोविंद प्रशाद था जो की भागलपुर विद्यालय के प्रधानाध्यापक थे इसलिये संस्कृत ,अग्रेजी , संगीत , और चित्रकला की शिक्षा अध्यापको द्वारा घर पर ही दी गई ,

बाल विवाह की वजह से कुछ दिनो के लिये शिक्षा मे बाधा पड गई ,महादेवी वर्मा जी शिक्षा के क्षेत्र से होने के कारण ये बचपन से ही पढने मे तेज थी ये आठवी कक्षा मे ही प्रथम अंक प्राप्त किया , वे सात वर्ष के उम्र से कविता लिखने लगी थी जब तक अपनी मैट्रीक कक्षा को पास करती तब तक वह एक सफल कवियित्री के रुप मे सफलता \पहचान बना चुकी थी हर जगह उनके द्वारा लिखित कविताये प्रकाशन होने लगी थी

उनके प्रिय मित्र का नाम सुभद्रा कुमारी चौहान है जिन्होने ने हिंदी के साहित्य क्षेत्र मे भी अपना नाम कमाया है म ये भी आगे चलकर एक लेखिका बनी

महादेवी वर्मा जी की रचनाये

महादेवी वर्मा जी की प्रमुख प्रमुख काव्य कृतियाँ निम्नलिखित है निबंध लिखना सिखे

नीहार
यामा
सांध्य गीत
दीप शिखा
नीरजा
रश्मि
प्रमुख काव्य कृतियाँ
महादेवी वर्मा जी का जीवन परिचय
credit; pinterest

नीहार – यह महादेवी वर्मा जी का प्रथम काव्य था इससे जगत की क्षणभंगुरता प्रकट करने वाले गीत है

रश्मि – इस काव्य – संकलन की कवितायो मे प्रेम, उल्लस, और अनुराग है

नीरजा – महादेवी वर्मा जी के इस संग्रह के अधिकांश गीतो मे दु:ख से उत्पन्न प्रेम का सुंदर चित्रण है

सांध्य गीत – इस संग्रह मे संकलित गीतो मे महादेवी की विरहिणी आत्मा अपने अज्ञात प्रियतम से मिलने के लिये भावुक है

दीप शिखा– यह महादेवी वर्मा जी का रहस्य – भावना प्रधान गीतो का संग्रह है इस संग्रह के अधिकांश गीत दीपक पर लिखे गये है

यामा– महादेवी वर्मा जी के कुछ चुने गीत का संग्रह है जिसमे से कुछ श्रेष्ठ ” गीत पर्व, संधिनी तथा आधुनिक कवि इत्यादी

महादेवी वर्मा की गद्य साहित्य रचनाये कौन-कौन सी है

Mahadevi Verma जी की प्रमुख कृतिया निम्न है

पथ के साथी
साहित्यकार की आस्था
स्मृति की रेखाये
श्रृखला की कडिया
मेरा परिवार
अतीत के चलचित्र
संभाषण
महादेवी वर्मा जी की प्रमुख कृतिया

महादेवी वर्मा जी को पुरस्कार व सम्मान

महादेवी वर्मा जी को प्रशासनिक, अर्धप्रशासनिक और व्यक्तिगत सभी संस्थाओँ से पुरस्कार व सम्मान मिले है

  • 1934 मे महादेवी वर्मा जी को मंगलाप्रसाद पारितोषिक व भारत भारती पुरस्कार से समानित किया गया
  • 1956 मे भारत सरकार ने साहित्यिक सेवा के लिये पद्म भूषण की उपाधि दी गई
  • 1971 में साहित्य अकादमी की सदस्यता ग्रहण करने वाली वे पहली महिला थीं।
  • 1988 में मृत्यु के बाद भारत सरकार की पद्म विभूषण उपाधि से सम्मानित किया गया
  • विक्रम विश्वविद्यालय, कुमाऊं विश्वविद्यालय, नैनीताल, दिल्ली विश्वविद्यालय तथा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी ने उन्हें डी.लिट की उपाधि से सम्मानित किया।

महादेवी वर्मा जी की कविता

रुपसि तेरा घन – केश -पाश
श्यामल श्यामल कोमल कोमल,
लहराता सुरभित केश- पाश!
नभगंगा की रजतधार मे,
धो आयी क्या इन्हे रात ?

सौरभभीना झीना गीला
लिपटा मृदु अंजन – सा दुकूल,
चल अंचल से झर – झर झरते
पथ मे जुगुनू के स्वर्ण – फूल
दीपक से देता बार-बार
तेर उज्ज्वल चितन विलास

व्याख्या– हे वर्षा सुंदरी ! ये बादल तेरे घने बाल है ये श्यामल, कोमल, सुगंध से भरे हुये और लहराते हुये बालो के समान है
क्या तुम बादल रुपी बालो को आकाश की चांदी जैसी चमकीली धारा से धोके आइ हो बार – बार चमकने वाली बिजालिया रजतधारा के कण जैसी लग रही है तेरे भीगे हुये अंग ठंडी हवाओ के कारण कांप रहे है

FAQ

Q: महादेवी वर्मा जी का जन्म कब हुआ था
Ans: 24 मार्च 1907

Q: महादेवी वर्मा जी का जन्म कहाँ हुआ था
Ans: फरुर्खाबाद

Q: महादेवी वर्मा जी का जन्म किस राज्य या प्रदेश मे हुआ था?
Ans: उत्तर प्रदेश , भारत

Q: महादेवी वर्मा जी के पति का क्या नाम था ?
Ans: नारायण वर्मा

Q: महादेवी वर्मा जी के पिता का क्या नाम था ?
Ans: गोविंद प्रशाद

Q: महादेवी वर्मा जी की मृत्यू कब हुई थी?
Ans: 11 सितम्बर 1987

Q: महादेवी वर्मा जी की मृत्यू किस जिले मे हुई थी ?
Ans: प्रयागराज (इलाहाबाद)

Q: महादेवी वर्मा जी कहाँ तक पढी है
Ans: MA संस्कृत

Q: महादेवी वर्मा जी किस विश्वविद्यालय मे पढी है
Ans: इलाहाबद विश्वविद्यालय

Q: महादेवी वर्मा जी का व्योवसाय
Ans: कवयित्री

Q: महादेवी वर्मा जी को पद्मभुषण पुरस्कार कब मिला था
Ans: 1956 पद्मभूषण
1982-ज्ञानपीठ पुरस्कार
1988पद्मविभूषण

Q: महादेवी वर्मा जी की रचनाये
Ans: नीहार
यामा
सांध्य गीत
दीप सिखा
नीरजा
रश्मि

Q: महादेवी वर्मा जी का विवाह कब हुआ था?
Ans: 9 साल के उम्र मे (बाल विवाह )

3 thoughts on “महादेवी वर्मा जी का जीवन परिचय। Mahadevi Verma biography in hindi : Story, Poem, रचनाये , प्रमुख कृतियाँ”

  1. Pingback: सुमित्रानंदन पंत का जीवन परिचय । sumitranandan pant ka jivan parichay - अनंत जीवन.in

  2. Pingback: स्वामी विवेकानन्द जीवन परिचय । Swami Vivekananda Biography - अनंत जीवन.in

  3. Pingback: तुलसी दास का जीवन परिचय । Tulasidas ka Jivan Parichay - अनंत जीवन.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *