होली पर कविता | Holi Poem in Hindi: Sayari

आप सभी को होली की हार्दिक सुभ कामनाये , आज हम सब इस पोस्ट मे होली पर कविता 2021 पढेंगे ,उसके पहले होली के विषय मे कुछ बाते जान लेते है

होली हिंदुयो का त्योहार है लेकिन ये भी कहना गलत नही होगा की होली सभी धर्मो के लोग धुम धाम से मनाते है होली भारत भर मे ही नही परंतु पुरे देश मे बडी धुम धाम से मनाया जाता है ,होली को रंगो का त्योहार भी कहते है इस दिन बडे ,बुढे, जवान , बच्चे , बच्चीया , औरते , बहने , सभी लोगो को देखने पे लगता है ये रंगो के संगम से मिलकर बने है इस दिन सभी के चेहरे पर रंग विरंगे गुलाल लगे होते है जो कि सुंदरता को चार चांद लगा देता है होली पर कविता 2021 की कविता आप को अच्छी लगे तो शेयर जरुर करे । म

बच्चो के लिये एक प्यारी सी होली पर कविता 2021

रंग में रंग मिल गए
मन से मन मिल गए,
होली में सब रंग खिल गए।

सब के मन खिल गए
दिल से दिल मिल गए,
होली में सब घुल मिल गए।

पिचकारियों में रंग भर गए
रंग गुलाल उड़ गए,
होली में सब घुल मिल गए।

तन-मन सब रंग बिरंगे हो गए
बच्चे बूढ़े सब मस्त हो गए,
होली में सब घुल मिल गए।

गरीब अमीर सब एक हो गए
जाति धर्म सब भूल गए,
होली में सब घुल मिल गए।

एक दुसरे के संग यु झूम गए
वर्षो पुरानी दुश्मनी भूल गए,
होली में सब घुल मिल गए।

बिछड़े हुए सब यार मिल गए
सब रिश्तेदार मिल गए,
होली में सब घुल मिल गए।

हैप्पी होली , हैप्पी होली

पढाई-क्यू-जरुरी-हैज्यादा-बोलना-सही-है-या-गलत
क्या-जीवन-एक-संघर्ष-है[New 100+ ] सुविचार हिंदी मे
इसे भी पढे

Holi Poem in Hindi

होली का त्योहार आया
खुशियों की सौगात लाया,
रंगो की उड़ान लाया।

होली का त्यौहार आया
प्यार की गंगा संग में लाया,
सबके मन को भाया।

होली का त्योहार आया
चंग और थाप की टोली लाया,
गीत मल्हार को संग में लाया।

होली का त्योहार आया
एक दूजे को रंग में रंगने आया,
सब के साथ घुल मिलने को आया।

होली का त्योहार आया
ग्रीष्म ऋतु को संग में लाया,
रंगो और उमंगो की पहचान लाया।

होली आया , होली आया

New Holi Kavita

होली के औजार कई हैं, जोड़ने वाले तार कई हैं
रंग बिरंगे बादल से होने वाली बोछार कई है
पिचकारी का ज़ोर क्या कम है, बन्दूक में ही रहने दो गोली
फिर से सजेगी रंग की महफिल, प्यार की धारा बनेगी गोली|

कब तक रूठे रहोगे तुम, बोलो कुछ क्यों हो गुमसुम
तुमको रंग लगाने में लगता कट जाएगी दम
कड़वाहट की कैद से निकलो; अब तो बन जाओ हमजोली
फिल से सजेगी रंग की महफिल, प्यार की धारा बनेगी होली|

मन में नहीं कपट छल हो, ऊँचा बहुत मनोबल हो
होली के हर रंग समेटे दिल पावन गंगाजल हो
अंतर मन भी स्वच्छ हो पूरा, सूरत अगर है प्यारी भोली
फिर से सजेगी रंग की महफिल, प्यार की धारा बनेगी होली|

Holi Sayari in Hindi

उनके प्यारे से चेहरे पर… हम भी रंग लगा देते..वो पास होते तो…हम भी होली मना लेते ..

सभी रंगो का रास है होली ,मन का उल्लस है होली ,जीवन मे खुशीया भर देती है , बस इसलिये खास है होली

भूल जाओ अब सारे गम , खेलो होली के सब रंग

ये होली के मजे कुछ खास नही , रंगना था जिसे वो पास नही

दिलो को मिलाने का मौसम ,दूरीया मिटाने का मौसम ,,होली का त्योहार ही ऐसा है ,,

New Thoughts in hindi For students free download click here >>

निकल पड़ी मद-मस्त ये टोली,
सबकी जुबाँ पे एक ही बोली
फिर से सजेगी रंग की महफिल,
प्यार की धारा बनेगी होली।

Happy Holi Wishes photo

होली पर और कविता पढे हिंदी मे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *