सहजन खाने के फायदे जानकर हों जायेंगे हैरान, सहजन खाने से होते है अनेको फायदे

सहजन लम्बी फली वाला एक सब्जी का पेड़ है। यह भारत में हर जगह पाया जाता है। विज्ञान ने यह प्रमाणित किया है कि इस पेड़ का हर एक अंग स्वास्थ के लिए बहुत लाभदायक है ज्यादातर लोग इसकी सब्जी, सांभर और अचार बनाने में उपयोग करते हैं। लेकिन सहजन के कई और अन्य प्रकार के स्वादिष्ट व्यजन बनाये जा सकते है।

आपको बता दू सहजन पोषक तत्वो (कैल्सियम, पोटैसियम, विटामिन आदि) से भरपूर्ण होता है। जिसके सेवन से हमारा शरीर स्वस्थ व तंदरुस्त रहता है। नमस्कार पाठको ! इस लेख मे हम सहजन के फायदे व आयुर्वेदिक गुणो को जानेंगे।

सहजन

सहजन के फायदे

सहजन के पत्ती के 100 ग्राम पावडर में, दूध से 17 गुना अधिक कैल्शियम, और पालक से, 25 गुना अधिक आयरन होता है इसमें गाजर से 10 गुना अधिक बीटा कैरोटिन होता है जो कि आंखों के बहुत लाभदायक है सहजन में केले से 3 गुना अधिक पोटैशियम, और संतरे से 7 गुना अधिक विटामिन सी होता है। जो हमारे शरीर के लिये बेहद जरुरई है।

सहजन के पत्ती का चूर्ण पावडर बनाने की विधि

सहिजन की पत्तियों को तोड़कर डाल से अलग कर दे, और सूखने के लिए छांव में रख दें 4 से 5 दिन तक रखने के बाद पत्ती सूख जाती है। और फिर उसे मिक्सर में दो बार पिस ले, पिसाई के बाद आप उसे चलनी से चल ले, सहजन का चूर्ण पावडर तैयार हो गया।

#थायराइड में सहजन खाने के फायदे

थायराइड रोगी को सहजन ज़रूर खाना चाहिए, जिनकी थाइरोइड ग्लैंड अधिक सक्रिय होती है वे सहजन खाते हैं।थाइरोइड रोग की दो कंडीशन graves disease और hashimotos disease दोनों के लिए सहजन का सेवन रोगमुक्त करता है।

#बालों के लिए सहजन के फायदे

सहजन बालों के लिए, एक टानिक का काम करता है सहजन जिंक, विटामिन और एमिनो एसिड मिलाकर केराटिन बनाते हैं।जो कि बालों की गोरथ के बहुत ही आवश्यक है सहजन के फल मे मिलने वाले बीज में एक खास तेल होता है इस तेल से बाल लम्बे घने एवं चमकदार होते हैं।बाल का गिरना भी बन्द हो जाता है। इस लिए सहजन का सेवन जरुर करना चाहिए।

#गर्भावस्था में सहजन के फायदे

सहजन में पाये जाने वाले भरपूर विटामिन व पोषक तत्व, गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ को अच्छा रखता है । सहजन को खाने से गर्भवती महिलाओं को कमजोरी व होने वाले बच्चे को कुपोषण से बचाता है। यह सस्ता सा आसान उपाय अमीर गरीब हर कोई अपना सकता है

दूध पिलाने वाली माताओं के लिए सहजन बहुत अच्छा है। सहजन की पत्तियों को घी में गर्म करके महिला को खिलाने से दूध की कमी नहीं होती और जन्म देने के बाद कमजोरी जैसे थकान आदि नहीं होती।

#कैंसर से बचाए सहजन

सहजन कैंसर प्रतिरोधी होता है। इसके एंटी ऑक्सीडेंट,kaempferol तत्व एंटी कैंसर होते हैं।यह स्कीन, लीवर, फेफड़े और गर्भाशय के कैंसर होने से सुरक्षा प्रदान करता है।

#दिमाग के लिए सहजन के फायदे

दिमागी स्वास्थ के लिए सहजन ला जबाब होता है। सहजन,,,, डिप्रेशन, बेचैनी, थकान, भूलने की बिमारी, अनिद्रा आदि रोगो से लडने की क्षमता देता है।

सहजन की सब्जी के फ़ायदे

सहजन खाने के फायदे जानकर हों जायेंगे हैरान, सहजन खाने से होते है अनेको फायदे

हदय रोग,जलन और सूजन सहजन की सब्जी खाने से ठीक हो जाता है। इसके अतिरिक्त सहजन की पत्तियो फल फूल बीज में भी ये गुण पाये जातें हैं। सहजन स्वास्थ लाभ के अलावा पानी भी साफ़ करता है जिसका सदियों से प्रयोग होता रहा है। इसके बीज को कूटकर पानी में मिलाने से हानिकारक प्रदूषक तत्व अलग हो जाते हैं

सहजन से सुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल घटाए

सहजन ब्लड सुगर लेवल और कोलेस्ट्रॉल लेवल संतुलित करता है।ये हाई ब्लड सुगर लेवल को कम करता है। कोलेस्ट्रॉल कम करने की वज़ह से यह हृदय के लिए अच्छा है।

सहजन से पथरी की समस्या हटाएं

किडनी में स्टोन पथरी की समस्या में सहजन रामबाण की तरह है।यह किडनी में जमें अनावश्यक कैल्शियम को शरीर से बाहर निकालता है। इससे स्टोन नहीं बनने पाता और यह किडनी स्टोन से होने वाले दर्द और जलन को कम करता है।

सहजन खाने से पेट के फायदे

सहजन खाने से पेंट साफ़ रहता है, कब्ज दूर होता है जिससे पेट के कीड़े और जीवाणुओं से भी मुक्ति दिलाता है

सहजन का तेल

सहजन के तेल को बेन आयल,कहते हैं। यह उडता नहीं है इसलिए घड़ियों में प्रयोग किया जाता है।यह बेन आयल कभी ख़राब नहीं होता इस मिठे तेल की कोई खुशबू नहीं होती।ये इत्र बनाने के काम में आता है।

सहजन का पेड़ कैसे लगाएं

भारतीयों के लिए यह गर्व की बात है कि यह उत्तर भारत से ही दुनिया भर में फ़ैला है।सहजन को अंग्रेजी में मोरिगा कहते हैं।

सहजन का पेड़ कहीं भी आसानी से लगाया जा सकता है।इसे बहुत पानी की जरूरत नहीं होती और यह तेजी से बढ़ता है। भोजन और उपचार के अतिरिक्त सहजन का प्रयोग पानी साफ करने और हाथ धुलने के लिए भी किया जा सकता है।

सहजन को कैसे खाएं, उसके पत्ते का उपयोग कैसे करें

सहजन की सब्जी खाना, उसके फल पत्तियों का सूप पिना,दाल में सहजन की पत्ती को पालक की जगह सकपैता डालकर सेवन करना सबसे मुख्य तरीका है।आप सहजन की पत्ती का पावडर बनाकर सुबह पिएं इन उपायों से सेहत अच्छी रहती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top