शहद कैसें बनता है? मधु खाने के फायदे जानें | About Honey in Hindi

शहद मधुमक्खियों द्वारा बनाया गया खाद्य तरल पदार्थ है। जो औषधिय गुणों से भरपूर्ण होती है, शहद का निर्माण, मधुमक्खियों द्वारा नानाप्रकार के फूलों के रस (पराग) द्वारा किया जाता है। जो इनका मुख्य भोजन है, शहद की विशेषता है की ये कभी खराब नही होती, शहद को मधु, रस, पुष्परस इत्यादि नामों से भी जाना जाता है।

शहद के सेवन से कई फायदें होते है, एक प्रकार से ये अमृत का कार्य करता है। आज इस लेख मे हम शहद के बारे मे (About Honey in Hindi) जानेंगे, आखिर शहद क्या है ?, शहद कैसे बनता है ?, शहद खाने के फायदे ? इत्यादि।

Honey in Hindi
Honey in Hindi- शहद का छत्ता – फोटो: पिक्साबे

Honey Meaning in Hindi- शहद या मधु

शहद क्या है ? What is Honey in Hindi

मधु/शहद क्या है: शहद एक मीठा तरल पदार्थ है, जिसे मधु के नाम से भी जाना जाता है। जो की चिपचिपा, मीठा, गाढा तथा हल्का पीले रंग का होता है। जो की मधुमक्खियों का मुख्य भोजन है, इसका निर्माण, मधुमक्खियों द्वारा नानाप्रकार के फूलों के रस को एकत्रित करके किया जाता है।

शहद का स्वाद: शहद या मधु का स्वाद सामान्य चीनी की तरह ही होता है। जो की ग्लूकोज व एकलशर्करा फ्रक्टोज के कारण होता है। शहद मे विभिन्न प्रकार के तत्व जैसे- विटामीन, खनिज, अमिनो अम्ल इत्यादि पाये जाते है। जो की हमारे शरीर मे जीवाणी-रोधी का कार्य करती है।

शहद के प्रकार: शहद के कई प्रकार होते है, जो की मधुमक्खियों द्वारा एकत्रित किये गयें फुलों के रसो पर निर्भर करते है। जैसे- बरसीम शहद, लीची शहद, अल्फा-अल्फा शहद, इत्यादि, तथा शोधन प्रक्रिया के अनुसार शहद के प्रकार जैसे- तरल मधु, रवेदार मधु, निष्कासित मधु, इत्यादि – हल्दी व दूध पीने के फायदे

शहद मे उपस्थिति पोषण तत्व – Nutrients in Honey

शहद एक औषधिय तरल पदार्थ है, जो की फूलो के रसों के संगम से बनता है। जिसका निर्माण केवल मधुमक्खीया कर सकती है। शहद मे कई ऐसे तत्व पाये जाते है, जो शरीर स्वस्थ व तंदरुस्त रहता है।,

शहद कैसें बनता है? मधु खाने के फायदे जानें | About Honey in Hindi

शहद मे पाये जाने वाले पोषण तत्व – Nutrients in Honey in Hindi

शहद य मधु मे कई ऐसे पोषण तत्व पाये जाते है, जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने मे मददगार है, इसके नियमित से सेवन शरीर स्वस्थ्य, तंदरुस्त, फुर्तिला व बलवान होता है, शहद मे निम्न तत्व पाये जाते है। जैसे-

  • कार्बोहाइड्रेट
  • वसा
  • प्रोटीन
  • विटामीन
  • कैल्शियम
  • मैगेनीशियम
  • पोटेशियम
  • सोडियम
  • ग्लुकोज
  • फ्रक्टोज
  • पानी (इत्यादि)

Honey in Hindi- दलिया खाने के फायदे

मधुमक्खीया शहद कैसी बनाती है – How dose a bee make Honey

शहद दो अवयवों से मिलकर बनता है, जिसे अमृत व पराग कहते है, ये दोनो अवयव फूलों से प्राप्त होते है। 500 ग्राम शहद बनाने के लिये मधुमक्खीयों को फूलो के रस (पराग) की खोज मे लगभग 1 करोड बार भटकना पडता है,

आप को जानकर हैरानी होगी की पृथ्वी पर कूल 25000 से अधिक मधुमक्खियों की प्रजाति पाई जाती है, जिनमे से कुछ विलुप्त होने की कगार पर है। Honey in Hindi

शहद खाने के फायदे – Shahad Khane ke fayade

शहद कैसें बनता है? मधु खाने के फायदे जानें | About Honey in Hindi

शहद खाने के क्या-क्या फायदे होते है ।

  • शहद के सेवन से अवरोधक क्षमता मजबूत होती है।
  • गलें मे खरास, या कब्ज जैसी समस्या को दूर करती है।
  • आंखों की रोशनी बढाने मे मददगार
  • पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है।
  • थकान, कमजोरी, को दूर भगाता है।
  • घाव भरने मे सहायक
  • त्वचा रोगों को दूर करता है।
  • खून को शुध्द करता है।
  • रक्तचाप मे फायदेमंद है।
  • शहद दिल की देखभाल मे फायदेमंद
  • सर्दी जुकाम को ठीक करने सक्षम

शहद का अन्य उपयोग – Uses of Honey in Hindi

शहद औषधियों से भरपूर्ण एक तरल व खाद्य पदार्थ है, इसका उपयोग आज से नही बल्की हजारों साल पहले से ही किया जा रहा है, हिंदू धर्म ग्रंथों मे शहद को पवित्र खाद्य पदार्थों की सूची मे डाला गया है, जिसके कारण शहद का प्रयोग हिंदू धर्म के पूजा-पाठ, जैसे कई धार्मिक कार्यों मे किया जाता है। तथा औषधि गुणो के कारण इसका प्रयोग चिकित्सा मे भी किया जाता है।

  • शहद का प्रयोग हिंदू धर्म के धार्मिक कार्यों मे किया जाता है, (पूजा, हवन, किर्तन, इत्यादि)
  • शहद का प्रयोग चिकित्सा के क्षेत्र मे भी किया जाता है, (दवाईया बनाने मे)
  • शहद का प्रयोग औषधि के रुप मे किया जाता है। (घरेलू नुख्से)
  • शहद का प्रयोग सामान्य खाद्य पदार्थ के रुप मे भी किया जाता है।

इन्हे जरुर पढे-

(1) चुकंदर खाने के फायदे
(2) नारियल पानी पीने के फायदे
(3) चना खाने के फायदे
(4) सरसों तेल के फायदे

शहद के प्रकार- Types of Honey in Hindi

शहद के कई प्रकार पाये जाते है, जो की मधुमक्खियों के द्वारा लाये गये पराग पर, शोध पर निर्भर करता है, नीचे तालिका मे कुछ शहद के प्रकार दिये गये है।

शहद के कितने प्रकार होते है।

मनुका हनी MANUKA HONEY
क्लोवर हनी CLOVER HONEY
यूकलिप्टस हनीEUCALYPTUS HONEY
एस्टर हनी ASTER HONEY
बकवीट हनी BUCKWHEAT HONEY
लिंडन हनी LINDEN HONEY
सेज हनीSAGE HONEY
टुपेलो हनी TUPELO HONEY
अकेसिया हनी ACACIA HONEY
सॉरवुड हनी SOURWOOD HONEY
शहद के प्रकार
Credit: Sadhguru Hindi

शहद की 10 मुख्य बातें – 10 Lines on Honey in Hindi

  1. शहद कभी खराब नही होता।
  2. शहद की रासायनिक संरचना थोडा मनुष्यों के रक्त संरचना से मिलता जुलता है।
  3. 500 ग्राम शहद बनाने मे एक मधुमक्खी को कम से कम 1 करोड बार चक्कर लगाना पडता है (पराग की खोज मे)
  4. शहद औषधि गुणो से भरपूर्ण होता है।
  5. शहद के कई प्रकार होते है, जो मधुमक्खी द्वारा लाये गये फूलों पर निर्भर करता है।
  6. शहद का प्रयोग हिंदू धर्म के पूजा-पाठो मे किया जाता है।
  7. शहद का PH मान 3 से 4.8 के बीच होता है।
  8. शहद खाने से शरी मे प्रतिरोधक क्षमता बढती है। जिससे आप जल्दी बीमार नही होते।
  9. शहद रक्तचाप मे भी मददगार है। Honey in Hindi
  10. शहद मे कई पोषक तत्व जैसे- प्रोटिन, विटामिन, वसा इत्यादि पाये जाते है।

shahad के बारे मे अधिक जानकारी के लियें क्लिक करे

इस लेख मे हमने शहद के बारे मे ( About Honey in Hindi) मे जाना, यह लेख आप के लिये कितना शिक्षाप्रद रहा, कमेंट मे अपना सुझाव अवश्य दे, साथ ही अगर जुडे सवालो को बेझिझक पूछे, अगर आप भी शहद का प्रयोग करते है तो, इसके फायदे कमेंट मे अवश्य बताये, ताकी लोगो को प्रेरणा मिल सके- धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top